DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गुंडागर्दी: आबकारी सिपाही ने किया पेट्रोलपंप सेल्समैन का अपहरण

शराब तस्करी और ओवररेट शराब बिकवाने में चर्चा में रहने वाले आबकारी के एक सिपाही पर दबंगई का दाग भी लग गया। सिपाही ने एक पेट्रोल पंप से सेल्समैन का अपहरण कर लिया और रुपए देने के बाद ही मैनेजर को मुक्त किया। पूरा घटनाक्रम पंप पर लगे सीसीटीवी में कैद हो गया। पंप मैनेजर ने मामले में डीएम को घटना की सीसीटीवी फुटेज देकर कार्रवाई की मांग की है। नौगावां सादात थाना क्षेत्र में पंजेतनी गेट के नजदीक स्टार फिलिंग स्टेशन है। कमालपुर खालसा गांव निवासी भूदेव सिंह इसके प्रबंधक हैं। 27 मई को मैनेजर अपने परिवार समेत हरिद्वार गए थे। कमालपुर खालसा का ही यश कुमार पुत्र धर्मपाल सिंह स्टार फिलिंग स्टेशन पर सेल्समैन है। 28 तारीख की शाम 3:52 बजे यश कुमार पेट्रोल पंप पर काम कर रहा था। इसी बीच कार आई। कार से नकाबपोश एक व्यक्ति उतरा। जिसने खुद को आबकारी का सिपाही बताया। आरोप है कि वह सीधे मैनेजर के ऑफिस में घुस गया। सेफ का ताला तोड़ने लगा। विरोध करने पर सेल्समैन को धमकाते हुए जबरन कार में डाल कर अपहरण कर ले गया। नकाबपोश आबकारी सिपाही पर सादे कागज पर हस्ताक्षर कराने का भी आरोप है। उसने साढ़े चार हजार रुपये की रिश्वत मांगी। धमकी दी कि रिश्वत नहीं देगा तो चालान कर दिया जाएगा। साढ़े चार हजार रुपये लेकर सेल्समैन को छोड़ने का आरोप है। पेट्रोल पंप प्रबंधक का कहना है कि खुद को आबकारी का सिपाही बताने वाले नकाबपोश की सारी हरकत में पेट्रोल पंप पर लगे कैमरों में कैद है। साथ ही वीडियो भी है। उन्होंने जिलाधिकारी को सीसीटीवी कैमरे की फुटेज और वीडियो सौंपकर मामले की जांच कर कार्रवाई की मांग की है। वहीं जिला आबकारी अधिकारी गिरीश वर्मा ने हिन्दुस्तान को बताया कि पंप मैनेजर पहले शराब विक्रेता रह चुका है, वहां पर शराब बिकने की शिकायतें मिल रही थी, जिसके आधार पर चेकिंग कराई गई थी। इसके अलावा दूसरा कोई मामला नहीं है।

सीएम के सामने उठाएंगे मुद्दा ::: नौगावां सादात के स्टार पेट्रोल पंप पर दो दिन पूर्व खुद को आबकारी विभाग का सिपाही बताने वाला कार सवार नकाबपोश सेल्समैन का अपहरण कर ले गया। साढ़े चार हजार रुपये लेकर छोड़ा। पेट्रोल पंप मैनेजर का कहना है कि नकाबपोश शराब बिकने का आरोप लगा रहा था। जबकि उन्होंने शराब की दुकान कई दिन पहले बंद कर दी। वह आबकारी विभाग के सिपाही के खिलाफ चुप नहीं बैठेंगे। वह सीएम से भी शिकायत करेंगे।

नौगावां पुलिस भी लपेटे में ::: डीएम को दिए गए शिकायती पत्र में पीड़ित ने कहा कि उसने घटना की तहरीर थाना नौगावां सादात प्रभारी निरीक्षक से की थी, लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। पीड़ित का कहना है कि उसे अवैध शराब बेचने का आरोपी पुलिस और आबकारी बता रही है, जबकि उसके पास पूर्व में लाइसेंस रह चुका है। वर्तमान में उससे कोई शराब नहीं मिली है, साथ ही आबकारी सिपाही ने जब पंप पर गुंदागर्दी की, तब भी उसे कोई शराब पंप से नहीं मिली है। थाना प्रभारी रविंद्र प्रताप सिंह का कहना है कि स्टार फिलिंग स्टेशन संदिग्ध है। इस पर शराब बिकने की यदा कदा शिकायत मिलती रहती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Excise soldier kidnaped the salesmen