DA Image
24 सितम्बर, 2020|10:21|IST

अगली स्टोरी

बागपत में सिपाही की आत्महत्या से परिवार में कोहराम

बागपत में सिपाही की आत्महत्या से परिवार में कोहराम

1 / 2जनपद के तरारा गांव निवासी 2016 बैच के सिपाही ने टीकरी पुलिस चौकी पर खुद को गोली मारकर जीवन लीला समाप्त कर ली। उसकी खुदकुशी से परिजनों में कोहराम मच गया। परिजन बागपत रवाना हो गए हैं। देर रात तक सिपाही...

बागपत में सिपाही की आत्महत्या से परिवार में कोहराम

2 / 2जनपद के तरारा गांव निवासी 2016 बैच के सिपाही ने टीकरी पुलिस चौकी पर खुद को गोली मारकर जीवन लीला समाप्त कर ली। उसकी खुदकुशी से परिजनों में कोहराम मच गया। परिजन बागपत रवाना हो गए हैं। देर रात तक सिपाही...

PreviousNext

जनपद के तरारा गांव निवासी 2016 बैच के सिपाही ने टीकरी पुलिस चौकी पर खुद को गोली मारकर जीवन लीला समाप्त कर ली। उसकी खुदकुशी से परिजनों में कोहराम मच गया। परिजन बागपत रवाना हो गए हैं। देर रात तक सिपाही का शव गांव में नहीं पहुंचा था।

जिले के सैदनगली थाना क्षेत्र के तरारा गांव निवासी राजेंद्र सिंह जाटव का 25 वर्षीय बेटा प्रवीण कुमार उत्तर प्रदेश पुलिस का सिपाही था। 2016 बैच का सिपाही प्रवीण बागपत जिले के दोघट थाना क्षेत्र की टीकरी चौकी पर तैनात था। गुरुवार सुबह उसने चौकी पर गोली मारकर आत्महत्या कर ली। सिपाही की खुदकुशी की खबर सुन परिजनों में कोहराम मच गया। पता लगते ही परिजन बागपत को रवाना हो गए। सिपाही की खुदकुशी की सूचना मिलने पर उझारी चौकी इंचार्ज मनोज कुमार व सैदनगली एसओ मोहित चौधरी पुलिस के साथ गांव में पहुंचे और मृतक के परिजनों से बात की। उधर, गांव के लोग शव आने का इंतजार करते रहे। देर रात तक सिपाही का शव गांव में नहीं आया था। दुखद खबर सुन घर पर रिश्तेदारऔर संबंधी भी इकट्ठा हो गए थे। सीओ हसनपुर कुलदीप कुकरेती ने बताया कि सिपाही का शव नहीं आया है। देर रात या शुक्रवार की सुबह तक शव पहुंच सकता है।

बहनों की शादी की फिक्र करता था प्रवीण

अमरोहा। गोली मारकर जीवन लीला समाप्त कर चुका सिपाही प्रवीण बहुत ही व्यवहार कुशल था। ग्रामीणों के मुताबिक उसके कई जगह से अच्छे रिश्ते आ रहे थे, लेकिन उसकी ताऊ की दो बेटी जवान हैं। यह कहकर शादी से इनकार कर देता था कि पहले ताऊ की बेटी और उसके बाद अपनी बहन शिवानी व सलौनी के हाथ पीले करेगा। मगर ईश्वर को यह मंजूर नहीं था।

बीटेक की पढ़ाई के बाद हुआ था भर्ती

अमरोहा/उझारी। तरारा गांव निवासी सिपाही प्रवीण पढ़ने में भी बहुत अच्छा था। आठवीं तक उसने उझारी के परिषदीय विद्यालय में पढ़ाई की। हाईस्कूल व इंटरमीडिएट सैदनगली के कॉलेज से करने के बाद रजबपुर क्षेत्र के एक इंजीनियरगिं कॉलेज में दाखिल लिया। यहां से बीटेक करने के बाद वह पुलिस में भर्ती हो गया। वह छोटे भाई सौविंद्र को भी अच्छी नौकरी पर लगवाने की कोशिश में लगा था।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Commotion in the family due to the suicide of a soldier in Baghpat