ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेश अमरोहासर्राफा हत्याकांड, जोड़....

सर्राफा हत्याकांड, जोड़....

पुलिस ने अगले दिन ही कर दिया था हत्याकांड का खुलासा अमरोहा। शुरुआत में घटनास्थल,शुरुआत में घटनास्थल को लेकर कश्मकश में फंसी पुलिस के लिए इस...

सर्राफा हत्याकांड, जोड़....
हिन्दुस्तान टीम,अमरोहाTue, 14 May 2024 09:00 PM
ऐप पर पढ़ें

पुलिस ने अगले दिन ही कर दिया था हत्याकांड का खुलासा
अमरोहा। शुरुआत में घटनास्थल को लेकर कश्मकश में फंसी पुलिस के लिए इस सनसनीखेज दोहरे हत्याकांड का खुलासा बेहद चुनौती भरा था। लेकिन, दोनों शव पोस्टमार्टम के लिए भेजने के बाद जब एफएसएल टीम ने मौके से साक्ष्य जुटाने शुरू किए तो फिर खुलासे के लिए तार से तार जुड़ते चले गए। शाम में दोनों का अंतिम संस्कार होने के बाद देर रात में सर्राफ योगेश चंद्र अग्रवाल के घर पहुंचे एसपी कुंवर अनुपम सिंह ने जब हत्यारोपी इशांक अग्रवाल से पूछताछ शुरू की तो सवालों के जवाब देने में उसकी जुबान लगातार फिसलती चली गई। आखिर में इशांक ने अपने गुनाह कुबूल कर लिया।

दिल्ली में ऐश की जिंदगी गुजारने के लिए खून से रंगे हाथ

अमरोहा। पिता से अलग होने के बाद हत्यारोपी इशांक ने दिल्ली में अपनी गत्ता फैक्ट्री खोल रखी थी लेकिन कारोबार में फिलहाल वह आर्थिक रूप से टूटा हुआ चल रहा था। जेब की तंगी के चलते ही वह पत्नी और बेटे को दिल्ली में अपने साथ रखने की हिम्मत नहीं जुटा पा रहा था जबकि यहां उसके हिस्से में अच्छी खासी संपत्ति थी। बेटे के दबाव के बावजूद योगेश चंद्र अग्रवाल संपत्ति को बेचने के खिलाफ थे, ये ही जिद आखिर में उनकी व गोद ली हुई बेटी की हत्या की वजह साबित हुई।

कोट:

अपराधियों के खिलाफ अभियान के तहत ही इस दोहरे हत्याकांड में हत्यारोपी दंपति समेत उनके नौकर को गैंगस्टर एक्ट में निरुद्ध किया गया है। मामले में कोर्ट में चार्जशीट दाखिल कर दी गई है। प्रभारी पैरवी करते हुए हत्यारोपियों को सजा दिलाने का काम जाएगा।

कुंवर अनुपम सिंह, एसपी

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें