50 ghante ke baad paanch ghante ke lie bijalee milee 44 5000 Got electricity for five hours after 50 hours - 50 घंटे के बाद पांच घंटे के लिए मिली बिजली DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

50 घंटे के बाद पांच घंटे के लिए मिली बिजली

50 घंटे के बाद पांच घंटे के लिए मिली बिजली

लगातार 50 घंटे बिजली कटौती का सितम झेलने वाली शहर की आबादी को दस दिन बाद भी राहत नहीं मिल सकी। गुरुवार को गुल हुई बिजली रविवार तड़के शुरू होने के बाद मात्र पांच घंटे ही जारी रही। इसके बाद फिर पावर कट का लंबा झटका लग गया। इससे पहले करीब दस दिन से गुलडिया बिजलीघर में आई तकनीकी खामी के चलते गहराई बिजली कटौती की समस्या ने लगातार आम लोगों को हलकान किया हुआ है।

30 मई की रात गुलड़िया बिजलीघर में लगा दस एमवीए का एक ट्रांसफार्मर खराब हो गया था। इसके बाद से बिजलीघर से जुड़े इलाकों में बिजली कटौती की समस्या गहराई थी। किश्तों में पांच से आठ घंटे ही विद्युतापूर्ति लोगों को मिल पा रही थी। इसी बीच बीती छह जून को गुलड़िया बिजलीघर में लगी आग और दूसरे ट्रांसफार्मर के खराब हो जाने से समस्या और गहरा गई। बिजलीघर पर लगे दोनों ट्रांसफार्मर समेत अन्य उपकरण खराब हो जाने विद्युतापूर्ति पूरी तरह बाधित हो गई। छह जून (गुरुवार) की रात से ही बिजलीघर से जुड़े इलाकों में लगातार अघोषित बिजली कटौती की जा रही है। करीब 50 हजार से अधिक आबादी इससे सीधा प्रभावित हो रही है। गुस्साए लोगों ने इसके विरोध में धरना-प्रदर्शन, आंदोलन करने के साथ ही जिम्मेदार अफसरों को ज्ञापन भी सौंपे लेकिन समस्या समाधान नहीं हो सका। शनिवार सुबह भी अफसरों ने बिजलीघर को नए ट्रांसफार्मर की आपूर्ति हो जाने व देर शाम तक संबंधित सभी इलाकों में विद्युतापूर्ति सुचारू करने का हवाई दावा किया। दावे के उलट बिजली कटौती के चलते रात भर लोग भीषण गर्मी से जूझते रहे। तड़के करीब चार बजे विद्युतापूर्ति शुरू हुई तो सभी ने राहत की सांस ली लेकिन आठ बजे फिर से विद्युतापूर्ति को करीब एक घंटे के लिए रोक दिया गया। नौ बजे दोबारा सप्लाई शुरू हुई तो फिर दस बजे बंद कर दी गई। कुल मिलाकर बीते दस दिन से विद्युतापूर्ति की बिगड़ी चाल से परेशान और लगातार 50 घंटे बिजली कटौती का दंश झेलने वाली आबादी को लंबे धीरज के बाद भी मात्र पांच घंटे ही विद्युतापूर्ति मिल सकी। लोगों में इसको लेकर गुस्सा नजर आया। नागरिकों ने जल्द सभी प्रभावित इलाकों में तय शेड्यूल मुताबिक विद्युतापूर्ति सुनिश्चित कराए जाने की मांग की।कम ही सही, मिली तो सही अमरोहा। भले ही रविवार को उपभोक्ताओं को दिन भर में मात्र पांच घंटे ही विद्युतापूर्ति मिल सकी लेकिन इसके बाद भी लोग कहीं न कहीं राहत की सांस लेते नजर आए। गुरुवार से ठप विद्युतापूर्ति के चलते खाली पड़े पानी के टैंक लोगों ने तड़के ही भर लिए। पेयजलापूर्ति होने पर घरेलू दिनचर्या कुछ व्यवस्थित नजर आई। हालांकि दिन में बिजली कटौती और भीषण गर्मी ने जरूर कुछ पसीना निकाला। शाम पांच बजे से फिर शुरू हुई विद्युतापूर्तिअमरोहा। शाम करीब पांच बजे से एक बार फिर गुलडिया बिजलीघर से विद्युतापूर्ति सुचारू की गई। शाम के वक्त दोबारा बिजली आने पर लोगों ने राहत की सांस ली। विभागीय अफसरों का दावा है कि देर रात तक विद्युतापूर्ति को पूरी तरह सुचारू कर दिया जाएगा।

रंग लाई आम लोगों की मुहिम

अमरोहा। बीते दस दिन से आबादी की समस्या पर कुंडली मारकर बैठे अफसरों की नींद आखिरकार आम लोगों के विरोध के बाद टूट ही गई। इसी का नतीजा है कि जो काम अफसर बीते आठ दिन में नहीं कर सके, उसे दो ही दिन में पूरा कर लिए जाने का दावा किया। इससे पहले गुस्साए लोगों ने शहर में कई स्थानों पर सड़क जाम, विरोध-प्रदर्शन और हंगामा किया था। शहर की सामाजिक संस्थाओं ने भी इसको लेकर अपनी आवाज बुलंद की थी। क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों ने भी बिजली अफसरों को व्यवस्था सुधार नहीं होने पर कार्रवाई करने की चेतावनी दी थी।

डीएम के हरकत में आने से सुलझी उलझन

अमरोहा। बीते चार दिन से बिजली कटौती की गंभीर समस्या पर डीएम उमेश मिश्र भी लगातार नजर रखे थे। खुद बिजलीघर का दौरा करने के साथ ही उन्होंने लगातार बिजली अफसरों की कार्रवाई पर पल-पल नजर रखी। दो दिन के भीतर विद्युतापूर्ति सुचारू नहीं किए जाने पर अफसरों को कार्रवाई करने का निर्देश दिया, जिसके बाद ही सार्थक नतीजा सामने आ सका।

गुलड़िया बिजली दो नए ट्रांसफार्मर आ गए हैं। एक ट्रांसफार्मर को शनिवार रात ही लगा दिया गया था। रविवार सुबह उसके जरिए सुचारू विद्युतापूर्ति शुरू की गई। रविवार शाम तक दूसरा ट्रांसफार्मर भी लगा लिया जाएगा। रात के वक्त निर्धारित शेड्यूल के अनुसार सुचारू विद्युतापूर्ति उपभोक्ताओं को देने का प्रयास किया जाएगा।

सुरेंद्र यादव, एसडीओ

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:50 ghante ke baad paanch ghante ke lie bijalee milee 44 5000 Got electricity for five hours after 50 hours