DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › अंबेडकर नगर › मध्यरात्रि में अवतरित हुए योगिराज भगवान, मंगल गीतों से गूंजा नभ
अंबेडकर नगर

मध्यरात्रि में अवतरित हुए योगिराज भगवान, मंगल गीतों से गूंजा नभ

हिन्दुस्तान टीम,अंबेडकर नगरPublished By: Newswrap
Wed, 01 Sep 2021 03:01 AM
मध्यरात्रि में अवतरित हुए योगिराज भगवान, मंगल गीतों से गूंजा नभ

अम्बेडकरनगर। श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का पर्व पूरे जिले में श्रद्धाभाव से मना। सोमवार की मध्यरात्रि में घड़ी की सुई ने ज्यों 12 बजने का संकेत दिया त्यों ही सर्वत्र योगिराज भगवान श्रीकृष्ण के जन्म का जश्न शुरू हो गया। मंगल और सोहर गीत गाए जाने लगे। इसी के साथ ही भगवान श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव भी शुरू हो गया। हालांकि इस बार भी परम्परागत मसलन सामुदायिक झांकियों की सजावट व शोभायात्रा निकालने का आयोजन नहीं हो रहा है।

भगवान योगिराज श्रीकृष्ण के जन्मोत्सव की सर्वत्र धूम है। किसी घर या मन्दिर में पालने में तो कहीं कारागार में भगवान श्रीकृष्ण का जन्म हुआ। सोमवार की शाम से ही जन्मोत्सव मनाने का दौर शुरू हो गया था। भजन, कीर्तन होने लगा। मध्यरात्रि में घड़ी की घण्टे की, मिनट की और सेकंड की सुई 12 की संख्या पर जैसे एक दूसरे के ऊपर पहुंची गोविंदा आला रे और भए प्रकट कृपाला मंगल और बधाई गीतों का दौर चल पड़ा। भजन कीर्तन कर लोगों ने रात्रि जागरण किया।

मन्दिरों में हुए विशेष आयोजन: नगर शहजादपुर चौक स्थित भगवान श्रीराम दरबार मंदिर में श्रीकृष्ण जन्मोत्सव का भव्य आयोजन किया गया। मध्य रात्रि में 12 बजे, अपने अपने घरों में भगवान का पूजन अर्चन करने के बाद लोग बच्चों के साथ मन्दिर में आए लोगों ने पूजा अर्चना की और मनौती मांगी। मन्दिर के संरक्षक अमीचंद चौरसिया ने भगवान का प्रसाद ग्रहण कराया और सभी के सुखमय जीवन की कामना की।

पुलिस लाइन में हुआ भव्य आयोजन: श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का पर्व सभी थानों में हुआ। मुख्य आयोजन रिजर्व पुलिस लाइन में हुआ। जिसमें सपरिवार पुलिस अधीक्षक आलोक प्रियदर्शी शामिल हुए। एसपी ने भगवान श्रीकृष्ण के जन्मोत्सव में विधि विधान से पूजा अर्चना की। श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के अवसर पर रिजर्व पुलिस लाइन में आयोजित भव्य कार्यक्रम में अधिकारियों, कर्मचारियों के साथ रिक्रूट आरक्षियों की ओर से प्रस्तुत भजन कीर्तन की प्रस्तुति की गई। कार्यक्रम मध्य रात्रि में 12 बजे भगवान श्रीकृष्ण के जन्म लेने तक चला। प्रसाद वितरण से कार्यक्रम का समापन हुआ। पुलिस अधीक्षक ने सभी को श्री कृष्ण जन्मोत्सव की बधाई दी। इसी तरह जनपद के समस्त थानों पर भी धूमधाम से श्री कृष्ण जन्मोत्सव मनाया गया।

राजयोग केन्द्रों पर मनी जन्माष्टमी: प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय की ओर से राजयोग केन्द्रों पर जन्माष्टमी मनाई गई। कटेहरी स्थित जायसवाल धर्मशाला पर मुख्य अतिथि अहिरौली थानाध्यक्ष प्रमोद कुमार सिंह ने कार्यक्रम का शुभारंभ किया। यहां पर बीके सोमा और बीके सरिता ने भगवान श्रीकृष्ण की महिमा का बखान किया। इस दौरान भगवान श्रीकृष्ण और राधा की झांकी के साथ प्रदर्शनी का भी आयोजन किया गया। इस मौके पर बीके सुमन, बीके साधना, बीके अंजनी चतुर्वेदी, बीके पारसनाथ, बीके उमापति, बीके रामजीत, बीके वीरेंद्र व अन्य मौजूद रहे।

कलाकारों के प्रदर्शन से मंत्रमुग्ध हुए दर्शक

जलालपुर। कस्बे के बिजली कॉलोनी मंदिर पर भगवान श्रीकृष्ण की खूबसूरत झांकी सजाई गई। वहीं पोस्ट आफिस जलालपुर में झांकी के दौरान दर्शक कलाकारों के प्रदर्शन पर मंत्रमुग्ध से खड़े रहे। जलालपुर कोतवाली स्थित मंदिर में भव्य कार्यक्रम का आयोजन हुआ। महिला आरक्षियों की मंदिर पर बनाई रंगोली की लोगों ने खूब तारीफ की। वहीं जमालपुर चौराहे पर स्थानीय लोगों और छोटे बच्चों ने मूर्ति स्थापित करते हुए पूजन भजन किया। बाबा पलटू साहब मंदिर में भक्तों की भारी भीड़ कृष्ण जन्मोत्सव को देखने के लिए जमा रही।

ग्रामीणांचल में रही धूम

शुक्ल बाजार। ग्रामीणांचल में भगवान श्रीकृष्ण की जन्माष्टमी का पर्व हर्षोल्लास मनाया गया। गोविंद साहब, रुस्तमपुर, ढोलबजवा, न्यौरी, झखरवारा, अमोला, बुकिया समेत अन्य गांवों में जन्माष्टमी मनाया गया। कौड़ाही बाजार स्थित शिव मंदिर एवं शिवकुटी पर कीर्तन भजन मंडली ने भगवान का जन्मोत्सव मनाया। महिलाएं पारंपरिक और मांगलिक गीत गाकर अपने तारणहार भगवान श्री कृष्ण के जन्म की बेला पर खूब आह्लादित हुईं। वहीं राज सोनी का गायन कान्हा किलकारी मार सोए पलना में बाबा नंद के अंगना में ना एवं सोहर गीत गाकर लोगों को मुक्त कर दिया।

संबंधित खबरें