DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › अंबेडकर नगर › सुरक्षित जननी-विकसित धरनी थीम पर मनेगा वंदना सप्ताह
अंबेडकर नगर

सुरक्षित जननी-विकसित धरनी थीम पर मनेगा वंदना सप्ताह

हिन्दुस्तान टीम,अंबेडकर नगरPublished By: Newswrap
Wed, 01 Sep 2021 03:01 AM
सुरक्षित जननी-विकसित धरनी थीम पर मनेगा वंदना सप्ताह

अम्बेडकरनगर। मातृ वंदना कार्यक्रम केंद्र और राज्य सरकार की महत्वकांक्षी योजना है। प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना में पहली बार गर्भवती होने वाली महिलाओं के बेहतर स्वास्थ्य देखभाल की जाती है। महिलाओं को उचित पोषण प्रदान करने के उद्देश्य से तीन किश्तों में पांच हजार रुपए प्रदान किया जाता है।

प्रधानमंत्री मातृ वंदना को गति प्रदान करने के लिए और शासन से निर्धारित लक्ष्य को पूरा करने के उद्द्देश्य से बुधवार से सात सितम्बर तक सुरक्षित जननी-विकसित धरनी मातृ वंदना सप्ताह मनेगा। सप्ताह का उद्देश्य अधिक से अधिक गर्भवती महिलाओं को इस योजना में पंजीकृत करना है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ श्रीकान्त शर्मा ने बताया कि इस साप्ताहिक अभियान के दौरान अधिक से अधिक गर्भवती महिलाओं को योजना का लाभ दिया जाएगा। साथ ही दूसरी और तीसरी किश्त के सभी लाभार्थियों को एएनएम और आशा के माध्यम से चिन्हित कर उनका शत प्रतिशत फार्म पोर्टल पर भरवाया जाएगा। पीएमएमवीवाई के नोडल अधिकारी डॉ सालिकराम पासवान ने बताया कि इस योजना का आवेदन फॉर्म भरने के लिए आशा या एएनएम् से मदद ली जा सकती है या घर बैठे योजना के वेबसाइट पर लॉग इन कर स्वयं आवेदन किया जा सकता है । लाभार्थी को कोई दिक्कत आ रही है तो स्टेट हेल्पलाइन नम्बर 7998799804 पर भी संपर्क कर सकते हैं ।

तीन किश्तों में होता है पांच हजार रुपए का भुगतान

केंद्र सरकार की यह महत्वाकांक्षी योजना एक जनवरी 2017 में शुरू की गयी । इस योजना के तहत पहली बार गर्भवती होने पर पोषण के लिए पांच हजार रुपए तीन किश्तों में गर्भवती के खाते में भेजा जाता हैं। पहली किश्त एक हजार रुपए गर्भधारण के 150 दिनों के अंदर पंजीकरण कराने पर, दूसरी किश्त दो हजार रुपए 180 दिनों के अन्दर व तीसरी किश्त दो हजार रुपए प्रसव पश्चात तथा शिशु के प्रथम टीकाकरण चक्र के पूरा होने पर मिलते हैं।

सप्ताह में होने वाले कार्य

प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना सप्ताह के तहत प्रतिदिन प्रत्येक ब्लॉक में कम से कम 50 लाभार्थियों का पंजीकरण किया जाएगा। इस तरह से 450 लाभार्थियों का एक दिन में पंजीकरण होगा। तृतीय किस्त का शत प्रतिशत भुगतान किया जाएगा। ब्लॉक के पोर्टल पर प्रदर्शित समस्त करेक्शन को शत-प्रतिशत निस्तारित किया जाएगा। अप्रूवल को प्रतिदिन निस्तारित किया जाएगा। निष्क्रिय आशा जिनके जरिए 90 दिनों में एक भी लाभार्थी का फार्म नहीं जमा किया गया है उनसे शत प्रतिशत फार्म भरवाया जाएगा।

संबंधित खबरें