DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  अंबेडकर नगर  ›  कोरोना के दूसरी लहर में सर्वाधिक मिले मधुमेह के रोगी
अंबेडकर नगर

कोरोना के दूसरी लहर में सर्वाधिक मिले मधुमेह के रोगी

हिन्दुस्तान टीम,अंबेडकर नगरPublished By: Newswrap
Sat, 19 Jun 2021 03:02 AM
कोरोना के दूसरी लहर में सर्वाधिक मिले मधुमेह के रोगी

अम्बेडकरनगर। वैश्विक महामारी कोरोना की दूसरी लहर में अन्य रोगों का भी प्रकोप बढ़ा। कोरोना के साथ अथवा बाद में कई रोगों के चपेट में आने का खुलासा हुआ है। जिले के अस्पतालों की ओपीडी रिकॉर्ड के अनुसार कोरोना की दूसरी लहर के दौरान कोरोना के बाद सबसे अधिक मधुमेह के रोगी मिले हैं। इसके बाद उच्च रक्तचाप, रक्तचाप-मधुमेह, टीबी, हृदय और मानसिक रोगी मिले हैं।

जनपद में वर्तमान वर्ष 2021 के जनवरी माह से बीते मई माह के अंत तक कुल पांच माह में 5052 के टीबी रोग की जांच की गई। वहीं ओपीडी में 17243 का इलाज हुआ। दूसरी ओर 1148 का मानसिक इलाज किया गया। इस दौरान हुई जांचों में टीबी के 1250, मधुमेह के 3696, उच्च रक्तचाप के 3184, रक्तचाप व मधुमेह के 1385, स्ट्रोक के 24, हृदय रोग के 152, कुष्ठ के 619, कैंसर के 22 और मानसिक रोग के 96 मरीज मिले।

अन्यथा मिल सकते थे और रोगी

बीते अप्रैल और मई माह में टीबी के रोगियों की नियमित जांच, तिमाही खोज, कुष्ठ रोगियों की तलाश, रोगों के इलाज की सामान्य ओपीडी बंद रही। जिला क्षय रोग अस्पताल के अरविंद पाठक ने बताया कि टीबी की जांच करने वाला स्टाफ कोरोना की जांच कर रहा था। इससे नियमित टीबी की जांच बंद थी। सामान्य ओपीडी और सामान्य जांच ना होने से कम रोगी मिले हैं। माना जा रहा है कि अगर नियमित ओपीडी चलती और जांच होती तो रोगियों की संख्या और हो सकती थी। जिला क्षय रोग अधिकारी एवं अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. सालिकराम पासवान ने बताया कि जुलाई माह से क्षय रोग की नियमित जांच शुरू की जाएगी। बताया कि अब नियमित ओपीडी भी शुरू हो गई है।

पांच माह में सर्वाधिक मिले रोगी

.मधुमेह के-5.20%

.उच्च रक्तचाप के-4.40%

.रक्तचाप/मधुमेह के-1.90%

.टीबी के-24.80%

.हृदय रोग-0.15%

.मानसिक रोग-5.50%

संबंधित खबरें