DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › अंबेडकर नगर › बंद रहता है सीएमओ कार्यालय का पुरुष शौचालय
अंबेडकर नगर

बंद रहता है सीएमओ कार्यालय का पुरुष शौचालय

हिन्दुस्तान टीम,अंबेडकर नगरPublished By: Newswrap
Thu, 16 Sep 2021 11:30 PM

 बंद रहता है सीएमओ कार्यालय का पुरुष शौचालय

अम्बेडकरनगर। मुख्य चिकित्सा अधिकारी के कार्यालय में स्वच्छता अभियान को पलीता लगाया जा रहा है। शायद जिले का यह एकमात्र ऐसा कार्यालय है जहां महिला शौचालय का प्रयोग महिलाओं के साथ पुरुष भी करते हैं। इसका कारण भूतल के पुरुष शौचालय अक्सर बंद रहना है। कभी ताला तो कभी रस्सी बांधकर सीएमओ कार्यालय के भूतल के पुरुष शौचालय को बंद रखा जाता है।

सीएमओ कार्यालय तीन तल का है। भूतल, प्रथम तल और द्वितीय तल है। तीनों तल पर दो-दो शौचालय बने हुए हैं। इसमें एक पुरुषों का और एक महिलाओं के लिए है। इसके अलावा मुख्य चिकित्सा अधिकारी के कक्ष में एक अतिरिक्त शौचालय है। अधिकारियों कर्मचारियों के प्रयोग के लिए सभी तल पर बने शौचालयों में से भूतल का पुरुष शौचालय हमेशा बंद रहता है। आमतौर पर रस्सी बंधा रहता है। इससे सभी कर्मचारियों को और आगन्तुकों को महिलाओं के शौचालय का प्रयोग करना पड़ता है।

खुले शौचालय भी हैं बदहाल

भले ही केवल के एक तल के एक ही पुरुष शौचालय को रस्सी से बांधा रखा जाता है लेकिन अन्य खुले शौचालय भी गंदगी और दुर्गंध से वे प्रयोग के लायक नहीं हैं। इससे आगंतुकों को निराश होकर बाहर की शरण लेनी पड़ती है। इससे स्वच्छता अभियान को पलीता लगाता है। सीएमओ कार्यालय परिसर के पूर्वी हिस्से में दुर्गंध का अहम कारण यही है।

परिसर में जंगली घासों का साम्राज्य

सीएमओ कार्यालय के भीतर के शौचालय में जहां गंदगी व्याप्त है वहीं परिसर में भी जंगली घासों का साम्राज्य है। हालांकि ऐसा बरसात के मौसम से है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ श्रीकांत शर्मा ने कहा कि टैंक का चोक लेने से है सफाई के लिए एक शौचालय को बंद किया है। सफाई हो रही है। जल्द खोल दिया जाएगा।

संबंधित खबरें