DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › अंबेडकर नगर › ईंटों पर जीएसटी की दर में वृद्धि ईंट निर्माताओं के साथ अन्याय
अंबेडकर नगर

ईंटों पर जीएसटी की दर में वृद्धि ईंट निर्माताओं के साथ अन्याय

हिन्दुस्तान टीम,अंबेडकर नगरPublished By: Newswrap
Mon, 11 Oct 2021 10:55 PM

ईंटों पर जीएसटी की दर में वृद्धि ईंट निर्माताओं के साथ अन्याय

अम्बेडकरनगर। ईटों पर जीएसटी की दर बढ़ने पर ईंट निर्माता समिति ने कड़ी नाराजगी व्यक्त की है। समिति की बैठक नगर के एक होटल में समिति अध्यक्ष श्रीराम वर्मा की अध्यक्षता में हुई।

बैठक में प्रेस प्रतिनिधियों से हुई वार्ता में समिति अध्यक्ष श्रीराम वर्मा ने कहा कि विगत 17 सितम्बर को लखनऊ में हुई जीएसटी काउंसिल में भट्ठे में निर्मित लाल ईंटों पर जीएसटी दर में अत्यधिक वृद्धि का प्रस्ताव किया गया है जो ईंट निर्माताओं के साथ अन्याय है। उन्होंने कहा कि विगत दो वर्षों से करोना महामारी के कारण ईंट व्यवसाय पूरी तरह चौपट हो गया है। ईटों पर जीएसटी दर वृद्धि से प्रधानमंत्री का सपना सबका घर हो 2022 में अपना साकार नहीं होगा। ईंट निर्माता समिति के प्रान्तीय नेता उत्तम चौधरी ने कहा कि मैनुफैक्चर्स सेक्टर 40 लाख तक सालाना टर्नआवर पर जीएसटी में कर मुक्त है। इसके बावजूद ईंट निर्माताओं के लिए 20 लाख रुपए सालाना टर्नओवर तक कर मुक्त का प्रस्ताव किया गया है जो कि ईंट भट्ठों के साथ घोर अन्याय है। इसका सीधा प्रभाव ईंटों की कीमतो पर पड़ेगा। ऐसी परिस्थित में कर दर में वृद्धि प्रस्ताव को वापस लिया जाए और आगामी दो सीजन के लिए ईंट बिक्री को कर मुक्त किया जाए। इस दौरान समिति ने वित्त राज्य मंत्री को संबोधित चार सूत्री मांग पत्र जिलाधिकारी को सौपा। बैठक में ईंट भट्ठा मालिक विजय कुमार, संजय कुमार, पवन कुमार वर्मा, देवेन्द्र प्रताप, रामजनम सिंह, मेहदी हसन, राम जगत वर्मा, विनोद कुमार वर्मा, वृजेश कुमार, मो.शोएब, पशुपति दुबे, रामजीत वर्मा, राजेन्द्र प्रसाद वर्मा, अभिलाष वर्मा व अन्य लोग मौजूद रहे।

संबंधित खबरें