DA Image
14 अगस्त, 2020|7:39|IST

अगली स्टोरी

मांगों के समर्थन में इंटर्न चिकित्सकों ने कैंडिल मार्च निकाला

default image

अम्बेडकरनगर। महामाया राजकीय एलोपैथिक चिकित्सा महाविद्यालय के एमबीबीएस इंटर्न चिकित्सकों ने मांगों के समर्थन में बुधवार को सायं कैंडिल मार्च निकाल कर सरकार का ध्यान आकृष्ट किया। एमबीबीएस इंटर्न चिकित्सकों ने कहा कि कोविड-19 में सभी इंटर्न चिकित्सकों ने सामान्य सेवाओं में भरपूर योगदान किया है। इंटर्न चिकित्सकों को सिर्फ 7500 रुपए मानदेय मिलता है। जबकि कर्नाटक, असम व बंगाल में इसका चौगुना मानदेय मिलता है। अल्प मानदेय के चलते चिकित्सक इस महामारी व महंगाई के दौर में अपनी आवश्यकताओं की पूर्ति नहीं कर पा रहे हैं। मानदेय बढ़ाने के लिए सोशल मीडिया व अन्य माध्यमों से पत्राचार भी किया गया लेकिन कोई सुनवाई नहीं हो सकी। जिससे इंटर्न चिकित्सकों में असंतोष व्याप्त है। कैंडिल मार्च में डा. गोपाल कृष्ण, अनिल यादव, अनूप सोनकर, अरविन्द, अमन, पंकज, राहुल, अतुल कुमार, देवेन्द्र कुमार, अनंद नायक, रामित पासवान, महेश प्रसाद सरोज, रीजीव रमन मूर्ति व अन्य चिकित्सक शामिल रहे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:In support of demands intern practitioners carry out candle march