ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेश अंबेडकर नगर25 लाख की ठगी करने वाला गैंगस्टर कटोखर से गिरफ्तार

25 लाख की ठगी करने वाला गैंगस्टर कटोखर से गिरफ्तार

इंदईपुर, संवाददाता। पेय पदार्थ के कंपनी द्वारा अपने सुपर स्टॉकिस्ट को एक्सपायरी माल बेच...

25 लाख की ठगी करने वाला गैंगस्टर कटोखर से गिरफ्तार
हिन्दुस्तान टीम,अंबेडकर नगरSat, 11 May 2024 10:45 PM
ऐप पर पढ़ें

इंदईपुर, संवाददाता। पेय पदार्थ के कंपनी द्वारा अपने सुपर स्टॉकिस्ट को एक्सपायरी माल बेच कर लगभग 25 लाख रुपए की ठगी के बाद गैंगस्टर के आरोप में फरार चल रहे आरोपी को हंसवर पुलिस ने शनिवार रात्रि को कटोखर चौराहे से दबोच लिया। मामले में अभी भी दो अन्य आरोपी फरार चल रहे हैं।

कानपुर की पेय पदार्थ कंपनी आयांश इंटरप्राइजेज बडवाइजर नान एल्कोहलिक बीयर कैन व बोतल की सप्लाई करती थी। अरविंद गुप्ता अयान इंटरप्राइजेज के बिजनेस हेड, वैभव पांडेय स्टेट हेड, मयंक सिंह राजपूत एएसएम, राजेश अग्रवाल व्यापारी सहयोगी तथा जमाल अशरफ एएसएम गोरखपुर पद पर कार्यरत थे। व्यापार को पूर्वांचल में बढ़ाने के लिए अयांश इंटरप्राइजेज के सभी पदाधिकारी सुपर स्टॉकिस्ट बनाने के लिए हंसवर कस्बा निवासी पवन जयसवाल पुत्र राजेंद्र जयसवाल को कंपनी के शर्तों का उल्लेख कर मोटा मुनाफा कमाने के लिए लालच देकर सुपर स्टॉकिस्ट के पद पर नियुक्त कर दिया था तथा व्यापार को शुरू करने के लिए 25 लाख रुपए की डिमांड की। सभी कार्यवाही पूरी करने के बाद कंपनी ने बड़वाइजर का 200 बाक्स कैन तथा 600 बाक्स बोतल भेज दिया, जिसकी कीमत लगभग 1243326 रुपए कंपनी ने बिल के रूप में भेज दिया। शिकायत के बाद गोदाम में एक्सपायरी माल मिला था। पीड़ित ने सातों आरोपियों के खिलाफ कूटरचना, धोखाधड़ी, अमानत में खयानत समेत अन्य आरोपों में मुकदमा पंजीकृत कराया था। मामले में वैभव पांडेय ने न्यायलय मे आत्मसमर्पण कर जेल की राह पकड़ ली थी, जबकि चार अन्य लोग उच्च न्यायालय से अंतरिम जमानत पर थे एवं जमाल अशरफ लापता हो गया। जबकि मयंक सिंह राजपूत को विवेचना के दौरान क्लीनचिट मिल गयी। पुलिस ने अरविंद गुप्त, खुशबू गुप्ता, वैभव पांडेय व राजेश अग्रवाल के खिलाफ गैंगस्टर का मुकदमा दर्ज कर लिया था। पुलिस ने राजेश अग्रवाल पुत्र रामचंद्र निवासी चौकाघाट जैतपुरा वाराणसी को उपनिरीक्षक दयाशंकर मिश्र ने शनिवार रात्रि को को पुलिस बल के साथ मुखबिर की सूचना पर कटोखर चौराहे से गिरफ्तार कर लिया। जबकि पुलिस बीते 19 अप्रैल को अरविंद गुप्त को गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है। थानाध्यक्ष सुनील कुमार पांडेय ने बताया कि गैंगस्टर के एक आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। शेष फरार अन्य आरोपियों की तलाश की जा रही है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।