ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेश अंबेडकर नगरसीएम दरबार मामला पहुंचने की चर्चा

सीएम दरबार मामला पहुंचने की चर्चा

सद्दरपुर। एक सप्ताह से मेडिकल कालेज सद्दरपुर में चल रहा विवाद मुख्यमंत्री दरबार पहुंचने...

सीएम दरबार मामला पहुंचने की चर्चा
हिन्दुस्तान टीम,अंबेडकर नगरSat, 11 May 2024 10:40 PM
ऐप पर पढ़ें

सद्दरपुर। एक सप्ताह से मेडिकल कालेज सद्दरपुर में चल रहा विवाद मुख्यमंत्री दरबार पहुंचने की चर्चा है। बताया जा रहा कि मेडिकल कालेज के चार छात्रों के हस्ताक्षरित प्रार्थनापत्र मुख्यमंत्री के निजी सचिव को भेज छात्रों ने एक प्रोफेसर की गोपनीय जांच कराने की मांग की है अन्यथा की स्थिति में आत्महत्या करने की बात कही है। इस प्रार्थनापत्र के वायरल होते ही मेडिकल कालेज में सनसनी बढ़ गयी है।

मेडिकल कालेज के चार छात्रों शिवम गुप्त, अरुण कुमार, शिवम तिवारी व अवनीश कुमार ने गत सात मई को एक प्रोफेसर पर यह आरोप लगाते हुए मुख्यमंत्री के निजी सचिव से शिकायत की थी कि वह छात्रों को जाति के नाम पर मानसिक उत्पीड़न कर रहे हैं। इतना ही नहीं जाति विशेष के छात्रों को एकजुट कर दूसरी जाति के छात्रों का उत्पीड़न कराया जाता है। चारों छात्रों ने कार्रवाई न होने पर आत्महत्या की चेतावनी दी थी। उधर प्रार्थनापत्र में जिस प्रोफेसर डॉ मुकेश राना को आरोपित किया गया है उनका कहना है कि मेडिकल कालेज सद्दरपुर में अवनीश नाम का कोई छात्र है ही नहीं और अरुण कुमार, शिवम गुप्त तथा शिवम तिवारी का कहना है कि उन लोगों ने कोई भी प्रार्थनापत्र नहीं भेजा है। डॉ राना का कहना है कि यह किसी की सोची समझी साजिश है जो उन्हें फंसाना चाह रहे हैं। उधर प्रधानाचार्य डा अमीरुल हसन ने एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर बताया कि बवाल को मेडिकल कालेज के ही शिक्षक हवा दे रहे हैं और इस घटना को जातिगत रूप देकर अराजकता एवं जातीय द्वेष भावना का वातावरण उत्पन्न कर रहे हैं। घटनाक्रम में संलिप्त लोगों की पहचान का प्रयास जारी है, शीघ्र ही प्रमाण मिलने पर उनके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।