DA Image
16 जनवरी, 2021|2:52|IST

अगली स्टोरी

कोरोना ने टीबी रोग के नियंत्रण पर लगाया ब्रेक

default image

अम्बेडकरनगर। वैश्विक महामारी कोरोना की मार से सभी परेशान है। कोरोना ने स्वास्थ्य सेवा को ही बीमार कर दिया है। अस्पतालों की नियमित ओपीडी, सर्जरी समेत विभिन्न कार्यक्रम प्रभावित है। कोरोना के चलते जनवरी माह के बाद पोलियो प्रतिरक्षण का अभियान तक नहीं चल सका है। बीते 20 सितम्बर से प्रस्तावित रहे अभियान को अनलॉक के बावजूद टाल दिया गया है। सबसे अधिक मार टीबी रोग के नियंत्रण अभियान पर पड़ा है।केंद्र सरकार ने 2025 तक देश को टीबी रोग से मुक्त बनाने का लक्ष्य निर्धारित किया है। इस दिशा में बीते कई वर्षों से अभियान चल भी रहा है। इसमें आशातीत सफलता भी मिल रही थी। घर घर टीबी के लक्षण वालों की खोज करके और जांच कराके छह की दवा का कोर्स कराने के चल रहे अभियान से जिले में टीबी के रोगियों में बीते दशक की अपेक्षा 10 फीसदी से अधिक की कमी आई है। ऐसा तब जब तत्समय की अपेक्षा 70 फीसदी अधिक जांच हो रही थी। पहले जिले में केवल तीन जगह जांच होती थी। अब 23 स्थानों पर टीबी रोग की जांच हो रही है। फिर भी कम मिल रहे टीबी के रोगियों से शासन की मंशा के अनुसार देश से 2025 तक टीबी रोग के खात्मे की आस जगी थी। फिलहाल अब ऐसा हो पाने में संदेह हो चला है। कारण मौके पर 15 डीएमसी में कोरोना की जांच ही नहीं हो पा रही है। वैश्विक महामारी कोरोना ने जिले में टीबी रोग के नियंत्रण अभियान को बेहद सफल बनाने वाली जांच की प्रक्रिया पर ही ब्रेक लगा दिया है। टीबी के रोगियों की संख्या में कमी टीबी के लक्षण वालों की खोज कर जांच कराने में रही तेजी है। अब वहीं जांच प्रक्रिया मौके पर बंद है। ऐसा कोरोना के चलते हैं। ऐसे में केन्द्र सरकार की मंशा पूरा होने में संदेह है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Corona puts a break on TB disease control