DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › अंबेडकर नगर › बंद बेअरसर, धरना प्रदर्शन तक सीमित रहा किसानों का आंदोलन
अंबेडकर नगर

बंद बेअरसर, धरना प्रदर्शन तक सीमित रहा किसानों का आंदोलन

हिन्दुस्तान टीम,अंबेडकर नगरPublished By: Newswrap
Mon, 27 Sep 2021 11:40 PM
बंद बेअरसर, धरना प्रदर्शन तक सीमित रहा किसानों का आंदोलन

अम्बेडकरनगर। कृषि बिल को वापस लेने के समर्थन में संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर सोमवार को भारत बंद के तहत किसान यूनियन के कार्यकर्ताओं ने जगह-जगह विरोध प्रदर्शन कर ज्ञापन दिया। फिलहाल भारत बंद का असर यहां जिले में बेअसर रहा।

कलेक्ट्रेट पर भाकियू कार्यकर्ताओं प्रदर्शन कर धरना दिया। धरने की अध्यक्षता जिलाध्यक्ष विनय कुमार वर्मा ने किया। धरना प्रदर्शन स्थल छावनी में तब्दील रहा। प्रदर्शनकारियों ने राष्ट्रपति को संबोधित 11 सूत्री मांग पत्र सदर एसडीएम मोईनुल इस्लाम को सौपा। ज्ञापन में किसान विरोधी तीनों कानून वापस लिए जाने, एसएमपी पर कानून बनाए जाने, मजदूरों पर बनाए गए कानून में सुधार करने, अन्य प्रान्तों की तरह किसानों को मुफ्त बिजली देने व बिजली दरें कम करने, गन्ना मूल्य 50 रुपए प्रतिकंुन्त बढ़ाने, बाढ़ से किसानों के फसल की हुई क्षति का मुआवजा देने, दिल्ली बार्डर पर धरना के दौरान मृत किसानों के परिवार को 50-50 लाख रुपए मुआवजा देने की मांग की गई है। मंडल उपाध्यक्ष रणजीत कुमार उर्फ लल्लू वर्मा ने कहा कि मांगों का 15 दिन के अंदर निस्तारण न किया तो किसान कुछ भी करने को मजबूर होंगे। धरना प्रदर्शन में मोहन लाल मौर्या, लक्षिराम वर्मा, राम नेवल पासवान, मस्त राम, सुभाष यादव, त्रिभुवन मौर्य, परशुराम पटेल, राम सूरत विश्वकर्मा, जगत नारायण यादव, चलाकू पाल, सत्यदेव, अनुरुद्ध चौबे, राजनाथ पांडेय, भगवान दास व अन्य कार्यकर्ता मौजूद रहे।

टांडा में घर में ही नजरबंद हुए किसान नेता

टांडा। भारत बंद के समर्थन में हरकत में आने वाले किसान यूनियन जिलाध्यक्ष विनय कुमार वर्मा को मौजा सलेमपुर स्थित उनके आवास पर ही नजरबंद कर दिया गया। बाद में पहुंचे उपजिलाधिकारी अभिषेक पाठक ने जिलाध्यक्ष से किसान समस्या पर संबंधित मांग पत्र लिया। राष्ट्रपति को संबोधित 11 सूत्री मांग पत्र में किसान विरोधी तीनों कानूनों को वापस लिए जाने की मांग प्रमुख रूप से की गई। विनय कुमार ने घोषणा की थी कि भारत बंद के समर्थन में वे जिला मुख्यालय पर अपने समर्थकों के साथ जाकर जुलूस निकालेंगे लेकिन पुलिस प्रशासन की सरगर्मी से उनकी इस मंशा पर पानी फिर गया। अलीगंज थानाध्यक्ष नागेंद्र सरोज ने उन्हें उनके आवास पर ही नजरबंद कर रखा था। भारत बंद टांडा में शांति पूर्वक बीत गया।

संबंधित खबरें