DA Image
Sunday, December 5, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेश अंबेडकर नगरअम्बेडकरनगर-जिले के 52 अनाथ बच्चों को मिलेगा मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना का लाभ

अम्बेडकरनगर-जिले के 52 अनाथ बच्चों को मिलेगा मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना का लाभ

हिन्दुस्तान टीम,अंबेडकर नगरNewswrap
Wed, 27 Oct 2021 10:40 PM
अम्बेडकरनगर-जिले के 52 अनाथ बच्चों को मिलेगा मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना का लाभ

अम्बेडकरनगर। वैश्विक महामारी कोरोना ने बहुतों को दर्द दिया है। किसी का वंश खत्म हो गया है तो कोई अनाथ हो गया है। मतलब किसी के सभी पुत्र और पुत्रियों दोनों की ही मौत हो चुकी है तो किसी किसी के माता और पिता दोनों की मौत हो चुकी है। जो बच्चे अनाथ हो चुके है यानि जिनके माता और पिता दोनों की मौत हो चुकी है उनके नाथ मुख्यमंत्री बनेंगे। उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के तहत बच्चों को प्रति माह चार हजार रुपए की आर्थिक मदद मिलेगी।

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना में जिले में 52 बच्चों का चयन हुआ है। साथ ही बच्चों के बैंक खाते में योजना में प्रदत्त प्रति माह चार हजार रुपए की धनराशि भेजी जा रही है। हालांकि जिला प्रशासन की ओर से कुल 66 बच्चों की सूची शासन को भेजी गई थी। इसमें से अभी केवल 52 की शासन से स्वीकृति मिली है। जिला प्रोबेशन अधिकारी राकेश कुमार ने बताया कि पात्रता के आधार पर उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना में 52 बच्चों का चयन है। योजना में चयनित बच्चों के बैंक खाते में योजना की धनराशि भेजी जा रही है।

किस ब्लॉक में कितने बच्चों का चयन: जिला प्रोबेशन अधिकारी राकेश कुमार ने बताया कि उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना में ब्लॉक जलालपुर के सात, रामनगर के आठ, अकबरपुर के 13, बसखारी के छह, जहांगीरगंज के पांच, कटेहरी के एक, भीटी के दो, टांडा के आठ और भियांव के दो बच्चों का चयन हुआ है।

क्या है उप्र मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना: उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना ऐसे बच्चों के लिए है जिनके माता-पिता का कोरोना से निधन हो गया है। इस तरह से निराश्रित और अनाथ बच्चों के लिए केंद्र सरकार की स्पॉन्सरशिप योजना की तर्ज पर प्रदेश में उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना शुरू की गई है। योजना में ऐसे बच्चों प्रति माह चार हजार रुपए प्रदेश सरकार देगी। बच्चों को 18 साल की आयु तक उक्त धनराशि मिलेगी।

जिला प्रोबेशन अधिकारी राकेश कुमार का कहना है कि शासन को भेजी गई सूची के अनुसार 52 अनाथ बच्चों को पात्रता के आधार पर बाल सेवा योजना के लिए चुना गया है। बच्चों के बैंक खातों में योजना की प्रति माह 4000 रुपए की धनराशि भेजी जा रही है।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें