woman pilot of Allahabad died in Mumbai plane crash - मौत से एक दिन पहले मारिया ने अम्मी से की थी बात-VIDEO DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मौत से एक दिन पहले मारिया ने अम्मी से की थी बात-VIDEO

woman-pilot mariya

मुंबई के प्लेन क्रैश में कोपायलट मारिया जुबैरी की मौत की खबर दोपहर बाद रानीमंडी स्थित उनके आवास पर पहुंची तो मातम मच गया। उनकी अम्मी फरीदा ने बताया कि एक दिन पहले ही मारिया ने फोन पर उनसे बात की थी। उन्हें क्या मालूम था कि यह बेटी से उनकी आखिरी बात है।

मुंबई में हादसा, इलाहाबाद में मातम

मारिया की 13 साल की बेटी जैनब ने फोन करके रोते हुए नानी फरीदा को यह मनहूस खबर दी तरो उनके पैरों तले जमीन खिसक गई। उनके रोने पर घर के बाकी लोग पहुंचे। मारिया के अब्बा डा. इकबाल उस समय अपनी क्लीनिक में थे। घरवालों ने फोन करके उन्हें मारिया की मौत की खबर दी तो वह आननफानन में घर पहुंचे। खबर पाकर आसपास वाले और जानने वाले पहुंचे। लोगों ने परिवार की हिम्मत बढ़ाई।

शुरू से सबका ख्याल रखती थी मारिया

डॉ. इकबाल ने कहा कि मारिया शुरू से ही बड़ी होशियार और सबका ख्याल रखने वाली थी। सेंट मैरीज से दसवीं पास करने के बाद उसने क्रॉस्थवेट से इंटर की पढ़ाई की। इसके बाद इलाहाबाद विश्वविद्यालय से मारिया ने बीएससी की पढ़ाई की। बीएससी करने के बाद रायबरेली के फुर्सतगंज स्थित इंदिरा गांधी राष्ट्रीय उड़ान अकादमी से पायलट की ट्रेनिंग ली। मारिया की शादी मुंबई में फिल्म् प्रोडक्शन का काम करने वाले आमिर हुसैन रिजवी से हुई थी। उनकी एक बेटी जैनब (13) है।

तीन बहनों और एक भाई में बड़ी थी मारिया

डॉ. इकबाल के चार बच्चों में तीन बेटियां मारिया, कुलकून और बारबरा तथा एक बेटा राहिल हसन जुबैरी है। मारिया और बारबरा मुंबई में रहती थीं। बारबरा श्यामक डावर के साथ काम करती हैं। जबकि कुलकून शारजाह विश्वविद्यालय में मैनेजमेंट की प्रोफेसर हैं। बेटा राहिल दुबई में सिटी बैंक में कार्यरत है। बहन की मौत की खबर पर शारजाह से कुलकून और दुबई से राहिल मुंबई के लिए रवाना हुए।

रमजान में पांच दिन रह कर गईं

मारिया रमजान में मायके आई थीं। बेटी जैनब के साथ वह पांच दिन इलाहाबाद में मम्मी-पापा के पास रहीं। मां फरीदा का कहना है कि मारिया बहुत अच्छी बेटी थी। मेरा और अपने पापा का ख्याल रखती थी। पढ़ाई में भी बहुत अच्छी थी। इसीलिए उसने जब पायलट बनने की ख्वाहिश जताई तो मना नहीं किया। क्या पता था बेटी का यह शौक उसे हमसे इतना दूर कर देगा।

कई एयरलाइंस में रह चुकी थीं

पिता डॉ. इकबाल ने बताया कि मारिया एयर एशिया समेत कई एयरलाइंस में रह चुकी है। कुछ समय पहले ही उन्होंने यूवाई एविएशन प्राईवेट लिमिटेड ज्वाइन की थी। यह कंपनी चार्टर प्लेन की है। इससे पहले मारिया ताज एयरवेज में भी रह चुकी हैं। मां के नहीं थम रहे आंसूबेटी की मौत पर डॉ. इकबाल सदमे में आ गए। वह गुमसुम से बैठे जमीन निहारते रहे। वहीं, मां फरीदा की आंख से आंसुओं का सैलाब बहता रहा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:woman pilot of Allahabad died in Mumbai plane crash