अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आयोग की परीक्षाओं में होगी निगेटिव मार्किंग

उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग की पीसीएस, लोअर सबार्डिनेट समेत अन्य भर्ती परीक्षाओं में अब निगेटिव मार्किंग होगी। आयोग के सचिव जगदीश ने प्रतियोगी छात्रों से बुधवार को मुलाकात के दौरान आश्वासन दिया है कि भविष्य में जो भी भर्ती शुरू होगी उसमें निगेटिव मार्किंग का प्राविधान होगा। वर्तमान में किसी परीक्षा में निगेटिव मार्किंग नहीं है। किसी अभ्यर्थी ने यदि परीक्षा हाल में अनुक्रमांक आदि गलत भर दिया है तो प्रत्यावेदन दे, आयोग उस पर सहानुभूतिपूर्वक विचार करेगा। सचिव ने कहा कि जिन अभ्यर्थियों ने समय से फार्म की हार्ड कॉपी भेजी है और डाकघरों की व्यस्तता के कारण समय से आयोग को नहीं मिला वे डाक भेजने का पूरा डिटेल अपने प्रत्यावेदन में दे तो उसे भी परीक्षा समिति के समक्ष रखा जाएगा। प्रारंभिक और मुख्य परीक्षा के बीच तैयारी का उचित समय दिया जाएगा। प्रतियोगियों की शिकायत का ध्यान रखते हुए इंटरव्यू में गुणात्मक सुधार हो रहे हैं। सचिव ने भरोसा दिलाया कि 2018 से अभ्यर्थियों से परीक्षा के लिए शहर का विकल्प मांगा जाएगा। इसके लिए परीक्षा केंद्र व जिले बढ़ाए जाएंगे। जो परीक्षा केंद्र नियमों का पालन नहीं करेगा उसे डिबार करेंगे। जिस अभ्यर्थी को कोई शिकायत हो वह प्रत्यावेदन के माध्यम से अपनी बात रखे, आयोग सहानुभूतिपूर्वक विचार करेगा। प्रतियोगी छात्र संघर्ष समिति की तरफ से अवनीश पांडेय तथा दिनेश तिवारी ने सचिव से मुलाकात की। आरओ/एआरओ 2016 की चल रही जांच इलाहाबाद। छात्रों के समीक्षा अधिकारी/सहायक समीक्षा अधिकारी 2016 परीक्षा रद्द करने के मुद्दे पर सचिव जगदीश ने बताया कि प्रकरण की सीबीसीआईडी जांच चल रही है। सीबीसीआईडी आयोग से संबंधित अभिलेख ले जा चुकी है। पुलिस महानिदेशक को रिमांडर भेजा है। मामला न्यायालय के विचाराधीन है अत: न्यायालय के निर्णय तक कुछ भी नही होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:UPPSC to introduce negative marking