DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इलाहाबाद मेडिकल कॉलेज को राष्ट्रपति ने सराहा

इलाहाबाद मेडिकल कॉलेज को राष्ट्रपति ने सराहा

सूरत में देहदानियों के परिजनों के लिए मंगलवार को आयोजित एक सम्मान समारोह को संबोधित करते हुए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा कि मेडिकल कॉलेज में देहदानियों का सरकारी खर्च पर इलाज प्रेरणादायक कदम है। कार्यक्रम के बाद राष्ट्रपति ने अपने ट्वीट में लिखा है-‘ अंगदान की प्रेरणा के लिए लोगों को कई प्रकार से प्रेरित किया जा सकता है। इलाहाबाद के मोती लाल नेहरू मेडिकल कॉलेज ने यह निर्णय लिया है कि देहदान का संकल्प लेने वाला व्यक्ति यदि जीवन में किसी बीमारी का शिकार होता है तो उसका इलाज सरकारी खर्चे पर किया जाएगा।

एक अन्य ट्वीट में लिखा है-‘सामाजिक संस्थाओं, कॉलेजों, चिकित्सा संस्थानों का प्रयास यह होना चाहिए कि वे लोगों को अंगदान और देहदान की प्रक्रिया के बारे में उनकी भाषा में, सरल से सरल शब्दों में जानकारी दें और उन्हें अंगदान के लिए प्रेरित करें- अंगदान वास्तव में किसी भी दूसरे दान से बढ़कर है। अंगदान से केवल एक व्यक्ति को ही नहीं बल्कि पूरे परिवार को नया जीवन मिलता है। भारत के लिए अंगदान और देहदान करना कोई नई बात नहीं है।

मेडिकल कॉलेज में पिछले चार साल के दौरान तकरीबन चार सौ लोगों ने देहदान का संकल्प लिया है जबकि 150 लोगों ने देहदान किया है।

इनका कहना है

देहदान और नेत्रदान करने वाले लोगों को पहले से नि:शुल्क स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराई जाती रही हैं। नेत्रदान और देहदान करने वाले और संकल्प लेने वालों को जितनी संभव होगी नि:शुल्क स्वास्थ्य सुविधाएं देंगे।

डॉ. एसपी सिंह, प्राचार्य मेडिकल कॉलेज

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:President appreciated Allahabad Medical College