DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

छात्राओं को पीटने वाले पुलिसकर्मी हों बर्खास्त

छात्राओं को पीटने वाले पुलिसकर्मी हों बर्खास्त

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के काफिले को काला कपड़ा दिखाने के आरोप में जेल भेजी गईं छात्राओं का मसला तूल पकड़ रहा है। इविवि छात्रसंघ के अध्यक्ष अवनीश यादव, उपाध्यक्ष चंद्रशेखर चौधरी, पूर्व अध्यक्ष ऋचा सिंह और पूर्व उपाध्यक्ष आदिल हमजा साहिल ने संयुक्त प्रेसवार्ता में इस घटना की निंदा की।

इनकी मांग है कि काला कपड़ा दिखा रही इविवि की छात्रा नेता यादव, रमा यादव और छात्र किशन मौर्या की पिटाई करने वाले पुलिसकर्मियों को बर्खास्त किया जाए। नेताओं ने कहा कि लोकतांत्रिक तरीके से विरोध कर रही छात्राओं को जेल भेजा जाना भाजपा की वर्तमान सरकार के बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ की नारे की पोल खोलता है। छात्राओं के साथ हुए दुर्व्यवहार की निंदा करते हुए पूर्व अध्यक्ष ऋचा सिंह ने मांग की है कि हाईकोर्ट इस मामले का स्वत: संज्ञान लेते हुए महिलाओं की अस्मिता को सुरक्षित करने और कानून का पालन करने के लिए प्रदेश सरकार को निर्देशित करे।

छात्रनेताओं ने पुरुष पुलिसकर्मियों द्वारा छात्राओं की गिरफ्तारी किए जाने और उनका बाल नोचे जाने पर नाराजगी व्यक्त की है। नेताओं ने रविवार की शाम पुलिस महानिरीक्षक से मिलकर दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग भी की।

जेल में शुरू करेंगी भूख हड़ताल

इविवि के छात्र नेताओं और सपा के पदाधिकारियों ने रविवार को जेल में बंद नेहा यादव, रमा यादव और किशन मौर्या से मुलाकात की। नेहा यादव ने इन नेताओं के जरिए संदेश दिलवाया है कि उनके साथ जो अन्याय हुआ है उसके खिलाफ वे कल से जेल में भूख हड़ताल शुरू करेंगी। मुलाकात करने वालों में सुनील कुमार यादव, दिनेश चौधरी, विकास यादव, नवनीत यादव, अजय यादव, रामकरन निर्मल, विकास कुमार कोल, अभिनव प्रताप यादव, सदाब फात्मा आदि शामिल थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Policemen who beated the girls should be sacked