DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इलाहाबाद और फूलपुर में 50 प्रतिशत से अधिक मतदान

इलाहाबाद और फूलपुर में 50 प्रतिशत से अधिक मतदान

प्रयागराज जिले की दोनों संसदीय सीटों के 28 प्रत्याशियों की किस्मत रविवार को ईवीएम में कैद हो गई। मतदान के प्रति लोगों में उत्साह देखने को मिला। पहली बार वोट डालने वाले युवक और युवतियां वोट डालने के बाद बेहद खुश दिखीं। लोकतंत्र के महायज्ञ में वोट रूपी अपनी पहली आहूति डालने के बाद इनके चेहरे पर जो खुशी उभरी वह देखने लायक थी। किसी ने सेल्फी प्वाइंट पर सेल्फी ली तो किसी ने परिवार के सदस्यों के साथ इस खूबसूरत लम्हे को मोबाइल कैमरे में कैद किया।

इस चुनाव में जिले के 51.92 फीसदी मतदाताओं ने मताधिकार का इस्तेमाल किया है। 2014 संसदीय चुनाव की तुलना में मत प्रतिशत में मामूली इजाफा हुआ है। वहीं दो साल पहले यानी 2017 में हुए विधानसभा चुनाव की तुलना में मत प्रतिशत में गिरावट आई है। 2014 के संसदीय चुनाव में जिले में 51.68 प्रतिशत मत पड़े थे जबकि 2017 के विधानसभा चुनाव में 54.13 प्रतिशत मतदाताओं ने मताधिकार का इस्तेमाल किया था। फूलपुर संसदीय क्षेत्र के अंतर्गत ग्रामीण इलाके के तीन विधानसभा क्षेत्र फाफामऊ, सोरांव और फूलपुर तथा दो शहरी विधानसभा क्षेत्र शहर उत्तरी और शहर पश्चिमी आते हैं। 2014 संसदीय चुनाव की तुलना में इस इलाके का मत प्रतिशत थोड़ा बढ़ा है। 2014 संसदीय चुनाव में 50.20 प्रतिशत मतदान हुआ था जबकि इस बार इस क्षेत्र में 50.86 प्रतिशत वोट पड़े हैं। पिछले चुनावों की तरह इस बार भी इस संसदीय क्षेत्र में सबसे खराब वोटिंग उत्तरी विधानसभा क्षेत्र में हुई। उत्तरी में सिर्फ 41 प्रतिशत मतदाताओं ने ही मताधिकार का इस्तेमाल किया। पश्चिमी विधानसभा क्षेत्र में 44.09 प्रतिशत वोट पड़े जबकि इस संसदीय क्षेत्र में सबसे अच्छी वोटिंग सोरांव विधानसभा क्षेत्र में हुई है। यहां 61 प्रतिशत मतदान हुआ है। वहीं फाफामऊ में 56 प्रतिशत तो फूलपुर में 54 प्रतिशत मतदाताओं ने वोट डाले हैं।वोटिंग के मामले में इलाहाबाद संसदीय क्षेत्र की स्थिति गत संसदीय चुनाव की तुलना में काफी खराब रही। 2014 के संसदीय चुनाव में इस इलाके के 53.50 प्रतिशत मतदाताओं ने मताधिकार का इस्तेमाल किया था। इस बार 50.73 प्रतिशत वोट पड़े। इस संसदीय क्षेत्र के पांच में से चार विधानसभा क्षेत्र ग्रामीण इलाके के हैं जबकि एक विधानसभा क्षेत्र शहर का है। सबसे कम 40.38 प्रतिशत वोटिंग शहर दक्षिणी विधानसभा क्षेत्र में हुई है। वहीं यमुनापार में स्थित ग्रामीण इलाके के चारों विधानसभा क्षेत्रों में 50 प्रतिशत से अधिक वोट पड़े। इस संसदीय क्षेत्र में सर्वाधिक 56 प्रतिशत वोटिंग अति पिछड़े और पठारी इलाके कोरांव हुई है। इस विधानसभा क्षेत्र के मतदाताओं ने मतदान में काफी रुचि दिखाई। बारा विधानसभा क्षेत्र में 54.05 प्रतिशत वोट पड़े हैं जबकि मेजा में 53 और करछना में 52 प्रतिशत मतदान हुआ है।पांच संसदीय चुनावों में मतदान की स्थिति 1999 2004 2009 2014 2018इलाहाबाद संसदीय क्षेत्र 45.98 42.14 43.40 53.50 50.73फूलपुर संसदीय क्षेत्र 58.38 53.58 38.69 50.20 50.86विधानसभा क्षेत्रवार मत प्रतिशत फूलपुर2014 2017 2019फाफामऊ 54.56 57.37 56सोरांव 57.07 58.11 61फूलपुर 56.72 58.69 54शहर पश्चिमी 44.05 47.34 44.9शहर उत्तरी 41.05 41.80 41इलाहाबाद मेजा 53.85 58.24 53करछना 57.69 59.81 52शहर दक्षिणी 43.26 45.23 40.38बारा 57.81 59.14 54.05कोरांव 56.82 59.54 56भदोही (आंशिक)प्रतापपुर 53.71 55.29 52.03हंडिया 49.56 54.51 58

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:More than 50 percent voting in Allahabad and Phoolpur