Instructions for deciding on routine typist - टाइपिस्ट को नियमित करने पर निर्णय लेने का निर्देश DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

टाइपिस्ट को नियमित करने पर निर्णय लेने का निर्देश

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने अधिशासी अभियंता ग्रामीण अभियंत्रण सेवा को 1987 से टाइपिस्ट के रूप में कार्यरत याची को लिपिक पद पर नियमित किए जाने के संबंध में दो माह में निर्णय लेने का निर्देश दिया है।

यह आदेश न्यायमूर्ति रामसूरत राम मौर्य ने मिर्जापुर में ग्रामीण अभियंत्रण सेवा कार्यालय में कार्यरत हरदोई निवासी गजेंद्र सिंह की याचिका पर अधिवक्ता अश्वनी मिश्र को सुनकर दिया। अधिवक्ता अश्वनी मिश्र ने कोर्ट को बताया कि 13 अगस्त 2015 व 11 अप्रैल 2016 के शासनादेश के तहत याची सेवा नियमितीकरण का हकदार है। सेवा नियमावली के तहत भी याची नियमित होने का अधिकारी है। याची ने प्रत्यावेदन दिया है लेकिन उस पर निर्णय नहीं लिया जा रहा है। याची से कनिष्ठ तीन कर्मचारियों को नियमित कर दिया गया है। पद रिक्त न होने के आधार पर याची को नियमित नहीं किया गया। इसे चुनौदी दी गई लेकिन याचिका खारिज हो गई थी। इसके बाद शासनादेश आया, जिसके आधार पर याचिका दाखिल की गई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Instructions for deciding on routine typist