DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

15 किलोमीटर तक हर कदम पर मिलेगा घाट

15 किलोमीटर तक हर कदम पर मिलेगा घाट

कुम्भ मेला 2019 में इलाहाबाद आने वाले संभावित भीड़ को देखते हुए अतिरिक्त तैयारी की जाएगी। इसके लिए पहली बार मेला क्षेत्र में 15 किलोमीटर की दूरी पर हर कदम पर स्नान घाट बनाया जाएगा। भीड़ बढ़ने की दशा में श्रद्धालुओं को दूसरे घाटों पर स्नान कराया जाएगा।

मेला क्षेत्र में इस बार 15 करोड़ लोगों के आने की संभावना है। खुद सरकार इसके लिए तैयारी कर रही है। अब तक कुम्भ और माघ मेला क्षेत्र में 18 स्नान घाट बनाए जाते थे। इस बार श्रद्धालुओं की संख्या अधिक होने के कारण अतिरिक्त घाट बनाए जाएंगे। इसके साथ ही मेले का क्षेत्रफल भी बढ़ा दिया गया है। ऐसे में इन सभी क्षेत्रों में घाट का निर्माण कराया जाएगा। फिलहाल 30 से अधिक घाट बनाने की तैयारी है। हालांकि बाढ़ के बाद इनकी संख्या को और अधिक बढ़ाया जा सकता है।

हादसों से लिया सबक

कुम्भ 2013 में हुए हादसों से प्रशासन सबक ले रहा है। ऐसे में यह निर्णय आपदा प्रबंधन में से ही एक है। कुम्भ मेला 2013 में मौनी अमावस्या के स्नान पर्व के दिन संगम घाट पर भी भगदड़ हुई थी। इसमें दो लोगों की मौत भी हो गई। हालांकि प्रशासन ने इसकी पुष्टि नहीं की थी। इसके बाद रेलवे स्टेशन पर बड़ा हादसा हो गया। ऐसे हादसों से प्रशासन ने सबक लिया है। यही कारण है कि इतनी बड़ी संख्या में पहली बार घाट बनाए जा रहे हैं।

वर्जन

15 किलोमीटर की दूरी में हर कदम पर घाट बनाया जाएगा। इसके लिए तैयारी बाढ़ के बाद की जाएगी। इनकी संख्या 30 या ज्यादा भी हो सकती है। उद्देश्य है कि श्रद्धालुओं को भीड़ बढ़ने की दशा में गंगा स्नान कराकर उनके गंतव्य तक सकुशल पहुंचाया जा सके।

विजय किरण आनंद, कुम्भ मेला अधिकारी

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Ghat will be available at every step of 15 kms