DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ड्यूटी करने वाली शिक्षिकाओं को नहीं मिला मानदेय

राजकीय विद्यालयों की एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती परीक्षा में डयूटी करने वाली शिक्षिकाओं को मानदेय नहीं मिला। शनिवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान प्रत्येक केंद्र पर दो-दो शिक्षिकाओं की ड्यूटी सचल दल में लगाने के निर्देश दिए गए थे।

बेसिक शिक्षा अधिकारी संजय कुमार कुशवाहा ने जिले के 144 केंद्रों पर 288 शिक्षिकाओं की ड्यूटी लगा दी। कई शिक्षिकाओं को रविवार सुबह आदेश मिला। आदेश मिलने के बाद शिक्षिकाएं रविवार को बारिश में भीगते हुए अपने-अपने केंद्र पर पहुंच गईं।

11.30 से 1.30 बजे की पाली में परीक्षा कराने के बाद उन्हें खाली हाथ वापस भेज दिया गया। जबकि अन्य परीक्षकों को पारिश्रमिक दिया गया। विभिन्न परीक्षाओं में कक्ष निरीक्षक को एक पाली के लिए 475 से 600 रुपये तक मिलते हैं। लेकिन अपना किराया-भाड़ा लगाकर और रविवार की छुट्टी खराब कर ड्यूटी करने पहुंचीं शिक्षिकाओं को कुछ नहीं मिला।

इसे लेकर शिक्षिकाओं में नाराजगी है। बीआर मेमोरियल इंटर कॉलेज धूमनगंज में ड्यूटी करने वाली शहाना बेगम और आरिफा बेगम ने बताया कि सेंटर पर मानदेय नहीं मिला। इस मसले पर अफसर कुछ बताने की स्थिति में नहीं हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Duty teachers do not get honorarium