CM Yogi Adityanath inaugurated Akshayvat and Saraswati koop - कुंभ 2019 : 450 साल बाद श्रद्धालुओं के लिए सीएम योगी ने खोले अक्षयवट के द्वार DA Image
21 नबम्बर, 2019|11:27|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कुंभ 2019 : 450 साल बाद श्रद्धालुओं के लिए सीएम योगी ने खोले अक्षयवट के द्वार

सीएम योगी आदित्यनाथ ने खोला अक्षयवट व सरस्वती कूप का द्वार

1 / 2मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार को अकबर का किला स्थित मूल अक्षयवट का उद्घाटन किया। इसके साथ ही अक्षयवट का द्वार आम श्रद्धालुओं के लिए खोल दिया गया। सीएम ने यहां सरस्वती कूप में स्थापित सरस्वती...

सीएम योगी आदित्यनाथ ने खोला अक्षयवट व सरस्वती कूप का द्वार

2 / 2मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार को अकबर का किला स्थित मूल अक्षयवट का उद्घाटन किया। इसके साथ ही अक्षयवट का द्वार आम श्रद्धालुओं के लिए खोल दिया गया। सीएम ने यहां सरस्वती कूप में स्थापित सरस्वती...

PreviousNext

प्रयागराज में किले में मूल अक्षयवट के दर्शन का आम श्रद्धालुओं का लगभग 450 इंतजार गुरुवार को खत्म हुआ। मुख्यमंत्री योगी अदित्यनाथ ने न सिर्फ मूल अक्षयवट और सरस्वती कूप के दर्शन किए, बल्कि आम जनमानस के लिए इसे खोलने का रास्ता भी साफ कर दिया। प्रयागराज संगम स्नान के लिए आने वाले श्रद्धालु अब पातालपुरी के साथ ही मूल अक्षयवट और सरस्वती कूप के दर्शन भी कर सकेंगे। मुख्यमंत्री ने सरस्वती कूप के जल से आचमन भी किया।
मुख्यमंत्री दोपहर 12 बजे किला पहुंचे। किले के अंदर प्रवेश करते ही तैयार किए गए नए द्वार पर लगाए गए शिलापट का बटन दबाकर लोकार्पण किया। इसके बाद मुख्यमंत्री अक्षयवट दर्शन के लिए पहुंचे। दर्शन कर पैदल ही किले के बाहर आए। इसके बाद अपने वाहन से बांध के नीचे तैयार किए गए रास्ते से मुख्यमंत्री सरस्वती कूप पहुंचे। सरस्वती कूप को प्रणाम किया। प्रयागराज विकास प्राधिकरण की ओर से लगाई गई देवी सरस्वती की प्रतिमा को प्रणाम किया। मुख्यमंत्री के साथ उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, पर्यटन मंत्री डॉ. रीता बहुगुणा जोशी, उड्डयन मंत्री नंद गोपाल गुप्ता 'नंदी', मंडलायुक्त डॉ. आशीष कुमार गोयल, मेला अधिकारी विजय किरण आनंद, आईजी मोहित अग्रवाल, डीआईजी कुम्भ केपी सिंह, विधायक हर्षवर्धन बाजपेई, भाजपा नेता अभिषेक शुक्ल, विजय बहादुर आदि मौजूद रहे। 

13 जनवरी से सभी कर सकेंगे अक्षयवट के दर्शन
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के जाने के बाद अक्षयवट और सरस्वती कूप को बंद कर दिया गया। मेला प्राधिकरण के अफसरों से पूछने पर कि अक्षयवट कब खुलेगा किसी ने स्पष्ट जवाब नहीं दिया। यहां व्यवस्था में जुटे लोगों ने बताया कि अब 13 जनवरी से इसे आमजन के लिए खोला जाएगा। सुबह से शाम तक श्रद्धालु अक्षयवट के दर्शन कर सकेंगे। पहले अक्षयवट, फिर पातालपुरी और बाद में सरस्वती कूप के दर्शन होंगे। 
 

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:CM Yogi Adityanath inaugurated Akshayvat and Saraswati koop