DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सचिव-रजिस्ट्रार से पूछताछ, दस्तावेज खंगाले

68500 सहायक अध्यापक भर्ती परीक्षा की कॉपियां जलाने और परिणाम में धांधली को लेकर जांच टीम ने परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय की निलंबित सचिव डॉ. सुत्ता सिंह और रजिस्ट्रार विभागीय परीक्षाएं जीवेन्द्र सिंह ऐरी से सोमवार को घंटों पूछताछ की। शासन ने 8 सितंबर को प्रमुख सचिव चीनी उद्योग एवं गन्ना विकास संजय आर. भूसरेड्डी की अध्यक्षता में 68500 शिक्षक भर्ती परीक्षा की अनियमितताओं की जांच के लिए तीन सदस्यीय कमेटी गठित की थी।

कमेटी के दोनों सदस्य सर्व शिक्षा अभियान के राज्य परियोजना निदेशक वेदपति मिश्र और बेसिक शिक्षा निदेशक सर्वेन्द्र विक्रम सिंह रविवार की शाम लखनऊ से इलाहाबाद पहुंचे। रविवार शाम को परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय एलनगंज पहुंचकर पूछताछ की और दस्तावेजों को खंगाला। सोमवार सुबह 10 बजे से ही दोनों अफसर फिर कार्यालय पहुंच गये।

निलंबित सचिव डॉ. सुत्ता सिंह और रजिस्ट्रार विभागीय परीक्षाएं जीवेन्द्र सिंह ऐरी से विभिन्न बिन्दुओं और कमियों के बाबत पूछताछ की। भर्ती परीक्षा से जुड़े दस्तावेजों को भी तलब कर छानबीन की। खासतौर से उन 23 अभ्यर्थियों के रोल नंबर और उनसे जुड़ी सूचनाएं खंगाली जो परीक्षा में फेल थे लेकिन पास कर दिया गया।

परीक्षा में अधिक नंबर पाने वाले लेकिन परिणाम में फेल किए गए अभ्यर्थियों के बारे में भी पड़ताल की। सूत्रों के अनुसार डॉ. सुत्ता सिंह और जीवेन्द्र सिंह ऐरी कई सवालों के जवाब नहीं दे सके। सर्वेन्द्र विक्रम सिंह तो दोपहर में ही लखनऊ रवाना हो गये लेकिन वेदपति मिश्र शाम पांच बजे तक कार्यालय में डटे रहे।

हालांकि दोनों अफसरों ने पूरे दिन मीडिया से दूरी बनाए रखी। अपनी रिपोर्ट कमेटी के अध्यक्ष संजय आर. भूसरेड्डी को मंगलवार को सौंप सकते हैं। विस्तृत रिपोर्ट जल्द ही शासन को सौंपी जाएगी। कमेटी को सात दिन में रिपोर्ट देने के निर्देश दिए गए थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Allahabad Inquiries from the secretary-registrar documents will be searched