DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सेवानिवृति के बाद भी प्राचार्य बने रहने पर विवाद

इलाहाबाद विश्वविद्यालय के संघटक कॉलेज आर्य कन्या डिग्री कॉलेज और यूइंग क्रिश्चियन कॉलेज (ईसीसी) के प्राचार्य को लेकर विवाद हो गया है। दोनों कॉलेजों के प्राचार्य इस माह सेवानिवृत हो गए पर अभी अपने पद पर बने हुए हैं। खास बात यह है कि इविवि प्रशासन इस मामले में बिल्कुल मौन साधे हुए है जबकि कुछ शिक्षक प्रशासन के संज्ञान में यह बात ला चुके हैं।

आर्य कन्या डिग्री कॉलेज की प्राचार्य डॉ. उर्मिला श्रीवास्तव 11 जुलाई को और ईसीसी के प्राचार्य डॉ. एम मैसी 16 जुलाई को सेवानिवृत हो गए। लेकिन दोनों प्राचार्य के दायित्वों का पूर्ववत निर्वहन कर रहे हैं। शैक्षिक सत्र के दौरान सेवानिवृत होने वाले शिक्षकों को तीस जून तक सत्र लाभ देने की व्यवस्था है। इविवि के रजिस्ट्रार प्रो. एचएस उपाध्याय का कहना है कि सेवानिवृत होने के बाद कोई शिक्षक प्राचार्य या अन्य प्रशासनिक पदों पर नहीं रह सकता है। बकौल प्रो. उपाध्याय केपी ट्रेनिंग कॉलेज की प्राचार्य डॉ. शोभा श्रीवास्तव 12 अगस्त को सेवानिवृत होने वाली हैं। उन्होंने पत्र लिखकर उनसे पूछा था कि क्या वे 12 अगस्त के बाद प्राचार्य पद पर रह सकती हैं तो उन्हें यही जवाब भेजा गया कि सेवानिवृत होने के बाद वह प्राचार्य पद पर नहीं रह सकती है। प्रो. उपाध्याय का कहना है कि आर्य कन्या डिग्री कॉलेज और ईसीसी के प्रकरण की जानकारी उन्हें नहीं है। वह कल इस बारे में जानकारी लेंगे।

आर्डिनेंस के तहत हूं प्राचार्य : डॉ. मैसी

ईसीसी के प्राचार्य डॉ. मैसी का कहना है कि इविवि के आर्डिनेंस के 42वें चैप्टर के सेक्शन आठ के सब सेक्शन सी में यह व्यवस्था दी गई है कि शिक्षक को जो पद उसकी वरिष्ठता के आधार पर मिलते हैं उन पदों पर शिक्षक सेवानिवृत होने के बाद नहीं रह सकते हैं। जैसे डीन और विभागाध्यक्ष का पद होता है। बकौल डॉ. मैसी, प्राचार्य का पद उन्हें वरिष्ठता के आधार पर नहीं मिला है, बल्कि इस पद पर उनका बाकायदा चयन हुआ है इसलिए वह तीस जून यानी सत्र लाभ तक प्राचार्य पद पर रह सकते हैं। वहीं आर्य कन्या डिग्री कॉलेज की गवर्निंग बॉडी के अध्यक्ष पंकज जायसवाल का कहना है कि सेवानिवृत हो चुकीं प्राचार्य डॉ. उर्मिला श्रीवास्तव को कार्य विस्तार देने का प्रस्ताव कुलपति के पास भेजा गया है। अभी वहां से कोई जवाब नहीं आया है इसलिए वह पद पर बनी हुई हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:After the retirement, the dispute remains the principal