DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

खैर में किशोरी को बालिका वधू बनने से बचाया

खैर में एक किशोरी का विवाह रुकवाया गया। मैरिज होम में किशोरी की शादी की तैयारी थी। प्रोबेशन विभाग की टीम पहुंची तो बारात गेट पर ही खड़ी हुई थी। बालिका के आधार कार्ड व टीसी से उम्र 16 वर्ष पाई गई।

जिला प्रोबेशन अधिकारी स्मिता सिंह ने बताया कि खैर में एक किशोरी का विवाह होने की सूचना 1098 चाइल्ड लाइन व 181 महिला हेल्पलाइन पर मिली थी। इस पर चाइल्ड लाइन के निदेशक ज्ञानेंद्र मिश्रा व बाल संरक्षण अधिकारी हितेश कुमारी टीम थाना खैर पहुंची। वहां पहुंचकर सीओ खैर एवं थानाध्यक्ष खैर सुबोध कुमार खैर में हो रहे बाल विवाह के बारे में जानकारी दी गई। पुलिस व प्रोबेशन विभाग की टीम मैरिज होम पहुंची। वहां बारात दरवाजे पर मिली। थानाध्यक्ष व बाल संरक्षण अधिकारी द्वारा परिजनों से बालिका के उम्र के बारे में प्रमाण पत्र मांगे गए तो परिजनों द्वारा बालिका की स्कूल की टीसी व आधार कार्ड की प्रति उपलब्ध कराई गई। उपलब्ध कराई गई टीसी व आधार कार्ड के अनुसार बालिका की उम्र 16 वर्ष पाई गई। अधिकारियों द्वारा थाने में कागजी कार्यवाही कर बच्ची को बाल कल्याण समिति अलीगढ़ के समक्ष प्रस्तुत किया गया। जहां उन्होंने बच्ची को अग्रिम आदेशों तक चाइल्डलाइन को सुपुर्द कर दिया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Well the marriage of the teenager stopped