DA Image
27 अक्तूबर, 2020|6:35|IST

अगली स्टोरी

फल व सब्जियों के दाम में छूने लगे आसमान

default image

अनलॉक दो शुरू होते ही मंहगाई का मीटर भी तेजी से बढ़ने लगा है। फल व सब्जियों के दाम में बेतहाशा वृद्धि हुई है। लोकल सब्जी खत्म होने व माल भाड़े में इजाफे का असर देखने को मिल रहा है। लॉक डाउन के बाद अब मंहगी सब्जी जेब ढीली करेगी। उधर डीजल पेट्रोल के रेट में इजाफा होने से बाद लोग परेशान हैं। किराने के उत्पादों को छोड़ दें तो मार्केट में मंहगाई का असर दिखाई देने लगा है। ट्रांसपोर्टरों ने 20 फीसदी माल भाड़े में इजाफा कर दिया है।

अनलॉक एक खत्म होने के साथ ही मंहगाई का सामना लोगों को करना पड़ रहा है। सब्जियों व फलों के रेट में भारी इजाफा हो गया है। सब्जी के रेट दोगुने से ज्यादा बढ़ गए हैं। टमाटर लाल हो गया है। टमाटर अभी चार दिन पहले 20 से 30 रुपये किलो बिक रहा था जो अब 50 से 60 रुपये किलो पहुंच चुका है। टमाटर अभी तक कासगंज व आस-पास के क्षेत्रों से आता था। लेकिन अब टमाटर देहरादून, हिमाचल प्रदेश, हल्द्वानी व नासिक से आने लगा है। आवक कम व डिमांड अधिक होने से भाव बढ़ रहे हैं। इसके अलावा भिंडी, तोरी, लौकी, प्याज समेत अन्य सब्जियों के रेट में 10 से 20 रुपये तक का इजाफा हुआ है। हरी धनिया 200 रुपये किलो पहुंच गया है। एक सप्ताह पहले हरी धनिया 100 से 150 रुपये किलो था। काशीफल व लौकी 10 रुपये किलो बिक रही थी जो अब 20 रुपये हो गई है। इसी तरह शिमला मिर्च, टिंडा, पालक, बीन्स व मक्के के रेट में बढ़ोत्तरी हुई है। फलो का राजा आम भी इतराने लगा है। अभी तक मार्केट में 20 से 30 रुपये तक आम बिक रहा था जो अब 50 रुपये तक पहुंच गया है।

बोले व्यापारी

लोकल की सब्जियां खत्म होने व माल भाड़े में इजाफे से सब्जी मंहगी हो रही है। टमाटर अब हिमाचल, देहरादून से आ रहा है। डिमांड अधिक है और आवक कम हो गई है। करीब दो माह तक सब्जियों के दाम में तेजी रहेगी। माशाल्लाह, सब्जी व्यापारी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:The prices of fruits and vegetables started touching the sky