DA Image
Saturday, November 27, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेश अलीगढ़आगे-पीछे झांकियां न्यारी, शान से निकला महाराजा अग्रसेन की सवारी

आगे-पीछे झांकियां न्यारी, शान से निकला महाराजा अग्रसेन की सवारी

हिन्दुस्तान टीम,अलीगढ़Newswrap
Sun, 17 Oct 2021 09:20 PM
आगे-पीछे झांकियां न्यारी, शान से निकला महाराजा अग्रसेन की सवारी

फोटो- ढोल, बैंड-बाजों के साथ धूमधाम से शहर में निकाली गई अग्रसेन शोभायात्रा, जयकारे गूंजे चारों ओर

- महायज्ञ कर अग्रसेन जयंती महोत्सव का हुआ शुभारंभ, बारिश ने डाला कार्यक्रम में खलल

- अग्र ज्योति पत्रिका का हुआ विमोचन

अलीगढ़। कार्यालय संवाददाता

आगे-पीछे मनमोहक झांकियों और महाराजा अग्रसेन के जयकारों की गूंज के साथ रविवार को शोभायात्रा निकाली गई। श्री अग्रवाल युवा संगठन द्वारा इसका आयोजन किया गया। हल्की बूंदाबांदी के बीच निकली झांकी में वैश्य समाज के लोग हर्षोल्लास के साथ नाचते-गाते हुए शामिल हुए। इससे पूर्व अग्रसेन चौक, रसलगंज पर आयोजित मुख्य समारोह में सुबह आठ बजे महायज्ञ हुआ। इसके बाद अभिनंदन समारोह हुआ। अग्र ज्योति पत्रिका के 28वें अंक का विमोचन किया गया। हालांकि मुख्य आयोजन में बारिश ने खलल डाल दी। बारिश के चलते प्रमुख अतिथि उत्तराखंड विधानसभा के अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल कार्यक्रम में शामिल नहीं हो सके। उन्होंने मोबाइल के माध्यम से ही कार्यक्रम में मौजूद लोगों को देहरादून से संबोधित किया।

महाराजा अग्रसेन जयंती महोत्सव का शुभारंभ अग्रसेन चौक पर महाराजा अग्रसेन की प्रतिमा पर माल्यार्पण के साथ शुरू हुआ। तत्पश्चात महायज्ञ हुआ। मुख्य यजमान मुकेश सिंघल व रीमा सिंघल सहित सभी अग्र बंधुओं ने सुख-समृद्धि, शांति की कामना की। इसके बाद बारिश आने के चलते अभिनंदन समारोह में देरी हो गई। दोपहर एक बजे करीब अतिथि कार्यक्रम में पहुंचे। यहां उनका स्वागत सत्कार हुआ। इसके बाद अतिथियों ने अग्र ज्योति पत्रिका के 28 वें अंक का विमोचन किया गया। इसके संपादक इंजीनियर प्रशांत गर्ग रहे।

18 राजकुमार रहे घोड़ों पर सवार

दोपहर दो बजे के बाद अग्रसेन चौक से शोभायात्रा शुरू हुई। इसमें सबसे आगे 18 राजकुमार घोड़ों पर सवार होकर चल रहे थे। वहीं, सबसे अंत में महाराजा अग्रसेन का डोला रहा था। बीच में मां लक्ष्मी, राधा-कृष्ण, मां सरस्वती, हनुमानजी, की सवारी थी। दिल्ली से आए जिया बैंड और महाराष्ट्र के पीएसएम बैंड ने मधुर धुनों को बजाते हुए समां बांध दिया। वैश्य समाज के लोग बारिश का लुत्फ उठाते हुए झांकियों के साथ चलते रहे। शोभायात्रा अग्रसेन चौक से शुरू होकर मामू भांजा, गांधी पार्क चौराहा, आर्य समाज मंदिर, अचलताल होते हुए रामलीला ग्राउंड पर पहुंची। रास्ते में लोगों ने अग्रसेन महाराज की आरती उतारी, जगह-जगह महिला-पुरुष श्रद्धालुओं ने महाराजा अग्रसेन का स्वागत फूल बरसाकर किया। अचल ताल पर पहुंची शोभायात्रा का आरती उतारकर व प्रसाद से महाराजा अग्रसेन का भोग लगाकर मिष्ठान का वितरण का कार्यक्रम हुआ। काली का रहा आकर्षक प्रदर्शन शोभायात्रा में शामिल काली के स्वरूप ने तलवारबाजी दिखाई। काली माता के स्वरूप के साथ सेल्फी खिंचाने की होड़ भी लगी रही। हालांकि इस बार कोरोना काल की वजह से विगत वर्षों की अपेक्षा शोभायात्रा का स्वरूप छोटा किया गया। २०२० में इसका आयोजन ही नहीं हुआ था। मगर, इससे पहले हमेशा 40 से 45 झांकियां शोभायात्रा में शामिल रहीं थीं।

--

यह रहे मौजूद

श्री अग्रवाल युवा संगठन से कोषाध्यक्ष अंकित गुप्ता स्वास्तिक, उपमंत्री अंकित अग्रवाल, मीडिया प्रभारी एडवोकेट प्रशांत अग्रवाल, पूर्व अध्यक्ष सीए लोकेश अग्रवाल, सीए निगम अग्रवाल, डॉ. प्रतीक अग्रवाल, ऋषभ गर्ग, दुर्गेश अग्रवाल, आशीष अग्रवाल कोठी, निदेशक भव्य अग्रवाल, राहुल गोयल, सीए प्रखर गर्ग, आकाश गर्ग, विवेक अग्रवाल, शोभित अग्रवाल, नितेश अग्रवाल, मोहित अग्रवाल, आकाश अग्रवाल, सोनू अग्रवाल, शरद बंसल, राहुल गर्ग, अंकुर अग्रवाल, अभिनव अग्रवाल, पीयूष तायल, दिव्यांश अग्रवाल, पुनीत गर्ग बालाजी, कल्पित अग्रवाल, शौर्य अग्रवाल, अनिल गर्ग, सागर अग्रवाल आदि कार्यक्रम के दौरान मौजूद रहे।

-------

राष्ट्र निर्माण में अग्रणी भूमिका निभाएं अग्र समाज: प्रेमचंद

- उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल नहीं आ सके अलीगढ़

- मोबाइल के माध्यम से किया कार्यक्रम को संबोधित

- खराब मौसम के चलते देहरादून से उड़ान नहीं भर सका उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष का हेलीकॉप्टर

अलीगढ़। कार्यालय संवाददाता

महाराजा अग्रसेन जयंती समारोह में शामिल होने के लिए बतौर प्रमुख अतिथि आमंत्रित उत्तराखंड विधानसभा के अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल का हेलीकॉप्टर खराब मौसम के चलते देहरादून से उड़ान नहीं भर सका। इसके चलते वह अलीगढ़ नहीं आ सके। मगर, उन्होंने मोबाइल के माध्यम से कार्यक्रम को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि राष्ट्र निर्माण में अग्र समाज के लोग अग्रणी भूमिका निभाएं। कोरोना काल के बाद देश फिर से अर्थव्यवस्था की पटरी पर लौट रहा है। ऐसे में एक बार फिर से व्यापारी वर्ग रोजगार देने के क्षेत्र में काम करें। फैक्टरी, जो बंद कर दी गईं थीं, उनको फिर से खोलें। इसके साथ ही उन्होंने हर वर्ष अलीगढ़ में होने वाले इस कार्यक्रम की सराहना की। उन्होंने कहा कि समाज में महाराजा अग्रसेन जैसे महापुरुष हुए हैं। हमें उनके आदर्शों पर चलना है। समाज को एक नई ऊंचाइयों पर लेकर जाना है।

बता दें कि अलीगढ़ के धनीपुर मिनी एयरपोर्ट पर उनका हेलीकॉप्टर सुबह 11 बजे पहुंचना था। मगर, देहरादून में मौसम खराब होने के चलते वह अपने निर्धारित समय सुबह 9:30 बजे उड़ान नहीं भर सका। अलीगढ़ में उनके आगमन का इंतजार होता रहा। समारोह पर उप संयोजक शरद बंसल ने बताया कि उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष का हेलीकॉप्टर खराब मौसम के चलते देहरादून से उड़ान नहीं भर सका। उन्होंने मोबाइल के माध्यम से कार्यक्रम को संबोधित किया।

--

भाजपा राज में व्यापारियों को मिला भय मुक्त माहौल: राजेश अग्रवाल

- मेरठ सांसद राजेंद्र अग्रवाल ने की भाजपा राज की प्रशंसा

- बारिश के चलते अन्य अतिथियों का नहीं हो सका संबोधन

अलीगढ़। कार्यालय संवाददाता

भाजपा राज में व्यापारियों को भय मुक्त माहौल मिला है। अब उत्तर प्रदेश सहित पूरे देश में कहीं भी गुंडे-बदमाश व्यापारी, कारोबारियों को परेशान नहीं करते। चौथ वसूली की हिम्मत तक नहीं होती। मोदी सरकार ने देश में दुनियाभर की कई कंपनियों को लाने की दिशा में काम किया है। इससे देश में रोजगार देने का माहौल बन रहा है। अलीगढ़ में डिफेंस कॉरिडोर इसका प्रतीक है। उन्होंने कहा कि पूर्व की सरकारों में व्यापारियों के साथ अन्याय होता रहा है। गुंडे-बदमाश मेहनत की कमाई पर डाका डालते रहे हैं। मगर, अब ऐसा नहीं होता है। वरिष्ठ भाजपा नेता डा. राजीव अग्रवाल ने अतिथियों का स्वागत किया।

आगामी उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में एक बार फिर से भाजपा सरकार लौट रही है। प्रदेश का हर वर्ग भाजपा के साथ है। मोदी सरकार भी 2024 में फिर से लौटेगी। मोदी-शाह-नड्डा ने देश को नई दिशा दी है। अब महिलाओं को घर से बाहर निकलने में डर नहीं लगता। अभिभावक अपनी बेटियों को देश के हर कोने में पढ़ने के लिए बिना चिंता के भेज रहे हैं। इधर, बारिश के चलते राजेश अग्रवाल के अलावा अन्य किसी अतिथि का संबोधन नहीं हो सका।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें