DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

टप्पल कांड की मजिस्ट्रियल जांच में 12 लोगों ने दर्ज कराए बयान

टप्पल में मासूम की नृशंस हत्या की मजिस्ट्रियल जांच के 11वें दिन बुधवार को 12 लोगों ने बयान दर्ज कराए। कलक्ट्रेट स्थित एडीएम प्रशासन कार्यालय में बयान दर्ज किए गए।

टप्पल के मोहल्ला कायस्थान से ढाई वर्ष की मासूम 30 मई को लापता हो गई ती। दो जून को मासूम का शव घर से कुछ ही दूरी पर कूड़े के ढेर पर मिला था। पुलिस ने पांच जून को घटना का खुलासा करते हुए दो आरोपियों को गिरफ्तार किया था। पुलिस ने हत्या की वजह रुपयों का लेनदेन बताई थी। इसके बाद इस मुद्दे ने सोशल मीडिया पर तूल पकड़ा। बॉलीवुड की नामचीन हस्तियों समेत तमाम दिग्गजों ने ट्वीट कर मासूम के परिजनों को न्याय दिलाने की मांग उठाई थी। बवाल बढ़ने पर आठ जून को डीएम चंद्रभूषण सिंह ने हत्याकांड की मजिस्ट्रियल जांच के आदेश करते हुए एडीएम प्रशासन केएल तिवारी को जांच अधिकारी नियुक्त किया था।

बुधवार को 12 गवाह एडीएम प्रशासन कार्यालय में बयान दर्ज कराने पहुंचे। करीब दो घंटे तक बयान दर्ज कराए जाने की प्रक्रिया चली। मजिस्ट्रियल जांच 15 दिन में पूरी कर रिपोर्ट डीएम को सौंपी जानी हैं।

टप्पल कांड में अब तक 12 लोगों ने अपने बयान दर्ज कराए हैं। पीड़ित परिजनों ने अभी तक बयान दर्ज नहीं कराए। थानाध्यक्ष और पीड़ित परिजनों को रिमाइंडर भेजा जा रहा है।

-केएल तिवारी, एडीएम प्रशासन।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Tappal case 12 people recorded in a magisterial inquiry