ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेश अलीगढ़युवा, गरीब, रोजगार, पिछड़ों पर रहा राहुल का फोकस

युवा, गरीब, रोजगार, पिछड़ों पर रहा राहुल का फोकस

युवा, गरीब, रोजगार, पिछड़ों पर रहा राहुल का फोकस -कहा, पिछड़े, दलित व ओबीसी की

युवा, गरीब, रोजगार, पिछड़ों पर रहा राहुल का फोकस
हिन्दुस्तान टीम,अलीगढ़Sun, 25 Feb 2024 09:40 PM
ऐप पर पढ़ें

युवा, गरीब, रोजगार, पिछड़ों पर रहा राहुल का फोकस

-कहा, पिछड़े, दलित व ओबीसी की देश में भागीदारी नगण्य

-मनरेगा व श्रमिकों में 90 फीसदी पिछड़ी आबादी का योगदान

अलीगढ़। कार्यालय संवाददाता

कांग्रेस भारत जोड़ो यात्रा के दूसरे चरण में अलीगढ़ पहुंचे सांसद राहुल गांधी संबोधन बेरोजगारी, गरीबी, किसानों के को खूब साधा। रोड शो में राहुल गांधी ने सीधे-सीधे पिछड़ों, दलितों, ओबीसी व माइनारिटी की देश में भागीदारी को लेकर जनता से सवाल किया। सीधे-सीधे पूछा कि आपकी आबादी 90 फीसदी के आस-पास है और देश के बड़े संस्थानों में कितनी हिस्सेदारी है। इसका किसी के पास जवाब नहीं होगा। क्योंकि बड़े संस्थानों में आपकी भागीदारी नगण्य है। 18 मिनट से अधिक के भाषण में राहुल गांधी ने जनता से सवाल जवाब करते हुए इन्हीं मुद्दों को प्रमुखता से रखा।

राहुल गांधी ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि भारत की पॉलिटिक्स को एक मिनट में समझा दूंगा कि आजकल चल क्या रहा है। नौजवानों को रोजगार नहीं, किसानों को दाम नहीं, गरीबों को काम नहीं और इन्हीं की जेब लगातार काटी जा रही है। पिछड़ों पर डोरे डालते हुए राहुल गांधी ने कहा कि देश का बजट 90 आईएएस अधिकारी चलाते हैं और यूपी का बजट 62 आईएएस अधिकारी। दलितों, पिछड़ों, ओबीसी व माइनारिटी को मिलाकर आपकी आबादी 90 फीसदी और इसमें भागीदारी केवल सात फीसदी है। युवाओं के रोजगार को लेकर कहा कि अग्निवीर भर्ती में शहीद का दर्जा नहीं मिलेगा। लाश घर भेज दी जाएगी और कोई सम्मान नहीं होगा। भर्तियों में आप पैसा खर्च करते हैं पढ़ाई करते हैं, लेकिन सरकार नहीं चाहती है कि आपको रोजगार मिले। इन तमाम मुद्दों को राहुल गांधी ने उछालते हुए लोकसभा चुनाव से पहले सत्ताधारी पार्टी की बेचैनी बढ़ाने का काम किया है। इस बार अलीगढ़ सीट सपा के खाते में हैं और यही कारण है कि सपाई व कांग्रेसी उत्साहित हैं। लोकसभा के चुनावी रण में गठबंधन कड़ी टक्कर देगा। हालांकि देखना है कि राहुल गांधी का भाषण व यात्रा लोकसभा चुनाव में गठबंधन की गांठ को कितना मजबूत कर पाता है।

बेरोजगार व मंहगाई के मुद्दे को उठा रही कांग्रेस

-कांग्रेस लंबे समय से बेरोजगारी व मंहगाई के मुद्दे को उठा रही है। भर्तियों में होने वाली गड़बड़ी से कांग्रेस इस मौके को भुनाने में लगी है। यही कारण है कि भारत जोड़ो न्याय यात्रा में राहुल गांधी के साथ प्रियंका गांधी वाड्रा ने भी नौकरी व भर्तियों में होने वाली गड़बड़ी को लेकर युवाओं को साधने का काम किया। भाजपा प्रदेश में नियुक्तियों के बाद प्रमाण पत्र बांटने का कार्यक्रम करने लगी है। लोकसभा चुनाव में भी इन्हीं मुद्दों को लेकर कांग्रेस उतर सकती है। अभी तक कांग्रेस बेरोजगारी, मंहगाई व किसानों के मुद्दे पर भाजपा को घेरती आई है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें