DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अधिकारियों की दलित विरोधी मानसिकता नहीं हो रही खत्म

सर्किट हाऊस में भारत सरकार के सफाई कर्मचारी आयोग की सदस्य मंजू दिलेर जिम्मेदार अधिकारियों की लापरवाही पर जमकर बिफरी। उन्होंने कहा कि अधिकारियों की दलित विरोधी मानसिकता खत्म नही हो रही है। वह स्वयं दलित है, जिसके चलते अधिकारी उनकी मीटिंग से दूरी बनाते हैं। ऐसा पहली बार नही है जब उनके साथ भेदभाव किया गया। बोली कि वह इसकी शिकायत पीएम, सीएम के साथ ही प्रमुख सचिव से करेंगी।

सोमवार को राष्ट्रीय कर्मचारी आयोग सदस्य मंजू दिलेर सर्किट हाउस दो घण्टे की देरी से पहुंची। इसका कारण उन्होंने एडीएम प्रशासन व वीआईपी बाबू को ठहराया। उन्होंने एडीएम प्रशासन व वीवीआईपी बाबू पर दलित विरोधी मानसिकता के होने का आरोप लगाया। सर्किट हाउस में पत्रकारों से रूबरू होते हुए उन्होंने कहा कि सिर पर मैला ढोने की प्रथा पर अभी तक पूरी तरह से रोक नही लगी है और 47 जिलों की सर्वे रिपोर्ट जिला प्रशासन ने आज तक आयोग को नही सौपी है। कहा कि अलीगढ़ में भी सर्वे किया जा रहा है। इसी को लेकर अधिकारियों के साथ मीटिंग करनी थी। लेकिन अधिकारी लापरवाही है। जिसके चलते उन्हें आज समय से पहुंचने के बावजूद उन्होंने मेरी मीटिंग व प्रेसवार्ता में देरी की। कहा कि अधिकारी अभी भी दलित विरोधी मानसिकता से काम कर रहे है।।वह दलित है तो उनके खिलाफ भी यह भेदभाव अपना रहे है। जिसे किसी भी सूरत में बर्दाश्त नही किया जाएगा। मंजू दिलेर ने इसकी शिकायत प्रमुख सचिव, सीएम एवं प्रधानमंत्री से करने को कहा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Officials are not getting anti-Dalit mentality