DA Image
27 अक्तूबर, 2020|6:58|IST

अगली स्टोरी

कानून की चौखट पर मां की ममता मांग रही इंसाफ, बेटी बोली-मैं नहीं पहचानती

default image

कानून की चौखट पर मां की ममता इंसाफ मांग रही है। स्थिति यह है कि अब बेटी ने ही मां बाप को पहचानने से इंकार कर दिया। बच्ची को कुछ समय के लिए चाइल्ड लाइन के सुपुर्द कर दिया गया है। अब बुधवार को माता पिता व बच्ची को न्यायालय में पेश किया जाएगा। नाबालिग से दुष्कर्म का फर्जी मुकदमा दर्ज कराने के मामले में अब नया मोड़ आ गया है। मामले में तफ्तीश कर रही महिला थाना की पुलिस नाबालिग के माता-पिता को अलीगढ़ लेकर आ गई। लेकिन आरोपी की ओर से बच्ची के माता-पिता को फर्जी बताया जा रहा है। छह माह पूर्व जमीनी विवाद के चलते एक बच्ची को मोहरा बनाकर अतरौली थाने में दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज कराया गया था। मामले में बच्ची को अनाथ बताया गया था। एसएसपी के निर्देश पर मामले की पुन: जांच की गई। जिसमें तफ्तीश की गई तो मालूम हुआ कि बच्ची के मां बाप जिंदा है। उनको मंगलवार को बुलंदशहर से अलीगढ़ लाया गया। बच्ची के परिजनों ने बताया कि उनकी बेटी को नौकरी दिलाने का झांसा देकर अलीगढ लाया गया था। लेकिन उस समय उन्हें नहीं मालूम था कि यह सिर्फ एक षडयंत्र रचा जा रहा है। मामले में अतरौली निवासी एक व्यक्ति ने अपनी जमीनी विवाद में रंजीश के चलते नाबालिग को मोहरा बनाकर फर्जी मुकदमा दर्ज कराया था। आरोपी पर पूर्व में भी इस तरह के कई मामले दर्ज है। मंगलवार को नाबालिग को माता पिता के सामने लाया गया तो उसने अपने ही मां व पिता को पहचानने से इंकार कर दिया। अभिभावकों की ओर से नाबालिग को समझाने का प्रयास किया तो बच्ची ने उन पर मारपीट करने का आरोप लगाया। कहा कि वह उनके साथ नहीं जाएगी। इस पर पुलिस ने नाबालिग को चाइल्ड लाइन के सुपुर्द कर दिया है। पुलिस अब बच्ची को न्यायालय में पेश करने की तैयारी कर रही है।

-नाबालिग के माता पिता को अलीगढ़ लाया गया है। नाबालिग अब अपने माता पिता को पहचानने से इंकार कर रही है। परिजनों के काफी समझाने व बात करने के बाद अपना बयान पलट गई और कहा कि माता पिता उसके साथ मारपीट करते है। ऐसे में वह अब उनके साथ नहीं जाना चाहती है। कुछ समय के लिए बच्ची को चाइल्ड लाइन के हवाले कर दिया गया है। विपिन चौधरी, महिला थाना प्रभारी --------

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Justice is demanding justice for mother on the frame of law daughter does not recognize