DA Image
26 जनवरी, 2020|11:21|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मानवाधिकार आयोग की टीम ने एएमयू छात्र और पुलिस अफसरों के दर्ज किए बयान

मानवाधिकार आयोग की टीम ने एएमयू छात्र और पुलिस अफसरों के दर्ज किए बयान

एएमयू में हुए बवाल की जांच करने आई राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग की टीम ने गुरुवार को एएमयू के एक दर्जन छात्रों और आठ पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों के बयान दर्ज किए। एएमयू छात्रों को पीडब्ल्यूडी गेस्ट हाउस में बुलाया गया। इनमें कुछ छात्र वो थे जिनके खिलाफ मुकदमा दर्ज हैं। जबकि सर्किट हाउस में अधिकारियों के अलावा सरकारी अस्पतालों के डाक्टरों से पूछताछ की गई। आरएएफ के अधिकारियों ने कुछ समय मांगा है। इसलिए उन्हें बयान दर्ज कराने के लिए शुक्रवार को बुलाया है। वहीं शुक्रवार को पुलिसकर्मियों के भी बयान दर्ज होंगे। इसके बाद टीम वापस चली जाएगी।

राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग की टीम के कुछ सदस्य गुरुवार को पीडब्ल्यूडी गेस्ट हाउस में पहुंचे। यहां एएमयू छात्रों को बयान दर्ज कराने के लिए बुलाया गया। टीम ने रेजीडेंस डाक्टर एसोसिएशन (आरडीए) के डॉ. शाहिद और उनके ड्राइवर निशात के बयान दर्ज किए। इनके अलावा मुकदमे में नामजद छात्र अरशद वारिस, अब्दुल मामूद, गुलजार, साद जफर समेत दर्जनभर छात्रों के बयान दर्ज किए गए। बयान दर्ज कराने के लिए छात्रों को काफी देर तक इंतजार भी करना पड़ा।

वहीं, दूसरी तरफ सर्किट हाउस में पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों के बयान दर्ज किए गए। इस दौरान छह पुलिस अधिकारियों के अलावा दो प्रशासनिक अधिकारियों से पूछताछ कर टीम ने बयान दर्ज किए। हालांकि सुबह आरएएफ के अधिकारी भी सर्किट हाउस पहुंचे। उन्होंने अपना पक्ष रखने के लिए कुछ समय मांगा। इस पर आरएएफ को बयान दर्ज कराने के लिए शुक्रवार को बुलाया है। शुक्रवार को पुलिसकर्मियों के भी बयान दर्ज होंगे।

डाक्टरों से घायलों की इंजरी के बारे में ली जानकारी

सर्किट हाउस में मानवाधिकार टीम ने दीनदयाल और जिला अस्पताल के डाक्टरों को भी बुलाया। दोनों अस्पतालों के डाक्टरों से घायलों की इंजरी के बारे में पूछताछ की। डाक्टरों ने घायलों का ब्योरा देते हुए अपना पक्ष रखा।

फॉरेंसिक टीम से भी जुटाए साक्ष्य

सर्किट हाउस में मानवाधिकार टीम ने फोरेंसिक टीम को भी बुलाकर साक्ष्य जुटाए हैं। एएमयू में उपद्रव के बाद फोरेंसिक टीम द्वारा जुटाए गए साक्ष्यों के बारे में गहनता से पूछताछ की।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Human Rights Commission team recorded statements of students and police officers