DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हिन्दू छात्रों को रोजा रखने पर मजबूर कर रहा एएमयू प्रशासन

एएमयू में रोजे के दौरान हिन्दू छात्रों को नाश्ता और खाना न दिए जाने पर हिन्दुवादियों में भारी आक्रोश व्याप्त है। बुधवार को दर्जनों छात्रों ने डीएस कॉलेज के गेट पर एएमयू प्रशासन का पुतला फूंका। जिसमें एएमयू प्रशासन की मुस्लिमवादी मानसिकता और हिन्दू छात्रों पर मजबूरन रोजा रखने का दबाव बनान का विरोध किया गया। नेतृत्व करते हुए छात्रनेता सौरभ चौधरी ने बताया कि एएमयू में अधिकांश छात्र, , प्रोफेसर और कर्मचारी स्टाफ मुस्लिम समुदाय से हैं। जो रोजा रहते हैं। ऐसे में एएमयू प्रशासन ने वहां रह रहे हिन्दू छात्र-छात्राओ को भी नाश्ता व खाना परोसना बंद कर दिया है। दूसरी बात कि मुस्लिम बाहुल्य क्षेत्र होने के कारण आस-पास ढाबा और होटल भी बंद रहते हैं। एएमयू में रोजेदार मुस्लिम हिन्दू छात्रो को दबाब में रखना चाहते है और इसी मानसिकता का नतीजा यह है कि वहां का प्रशासन हिन्दू विरोधी होने का परिचय दे रहा है। छात्रनेता संजू बजाज ने बताया कि एएमयू में पूर्व में भी राष्ट्र विरोधी और हिन्दू अहित के मामले सामने आते रहे है। जो भारतीय संस्कृति को छिन्न-भिन्न करने का इशारा करते हैं। यह देश की सुरक्षा के लिए घातक साबित हो सकता है। जल्द ही मानव संसाधन मंत्री प्रकाश जावडेकर से समय लेकर एएमयू पर कार्यवाही की मांग की जाएगी। इस मौके पर विशाल देशभक्त, ललित राघव, संजय भीलवाड़ा, विनोद राजपूत, अमर कुमार, अमरिंदर आदि उपस्थित रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Hindus accused Hindu students not getting food properly in amu