DA Image
29 जनवरी, 2020|1:12|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बाजार में उत्पादों की डिमांड पैदा करें वित्त मंत्री

default image

आम बजट से अलीगढ़ के ताला एवं हार्डवेयर कारोबारियों को ढेरों उम्मीदें हैं। बीता साल इंडस्ट्री के लिए दुश्वारियों भरा रहा। बाढ़-बारिश, मंदी के कारण उत्पादन से लेकर उत्पाद की बाजार में डिमांड घट गई। उत्पादन करने वाले उद्यमी परेशान रहे। इस साल उद्यमियों को आम बजट से बेहतरी की आस है कि ताला व हार्डवेयर उद्योग के लिए वित्त मंत्री कुछ करेंगे और कारोबार पटरी पर आएगा।

अलीगढ़ के तालों व हार्डवेयर का विदेश तक डंका बजता है। लेकिन अलीगढ़ में उत्पादों को प्रदर्शित करने के लिए कोई स्थान नहीं है। उद्यमी यहां पर एक प्रदर्शनी हाउस की मांग कर रहे हैं ताकि खरीदार आए तो उसको उत्पाद दिखाए जा सकें। अलीगढ़ का ताला एवं हार्डवेयर बिल्डिंग पर आधारित उद्योग है। हाउंसिंग योजनाएं या फ्लैटों के निर्माण शुरू होते हैं तो यहां के उत्पादों की डिमांड बढ़ती है। अलीगढ़ के उद्यमियों की इस बार वित्त मंत्री से चाहते हैं कि बाजार में तैयार उत्पाद की डिमांड बढ़ाने को योजना बने। बाजार में नकदी की तरलता को बढ़ाया जाए ताकि लोग वस्तुओं की खरीददारी कर सकें।

बोले उद्यमी

ताला, हार्डवेयर, इलेक्ट्रानिक का अलीगढ़ हब है। इन उत्पादों की मांग बाजार में नहीं के बराबर है। बाजार में नकदी की तरलता का अभाव है। आम बजट में कुछ ऐसा समावेश होना चाहिए ताकि बाजार में उत्पादों की डिमांड बढ़े। पूंजी बाजार में आएगी तो उद्योग आगे बढ़ेंगे।

-सुनील दत्ता, उद्यमी तालानगरी।

एक जिला एक उत्पाद को बढ़ावा देने की जरूरत है। प्रचार, निर्यात को बढ़ावा देने के लिए अंतराष्ट्रीय स्तर पर प्रदर्शनी गैलरी का निर्माण होना चाहिए ताकि उत्पादों को प्रदर्शित किया जा सके। एमएसएमई के लिए अलग से बजट का प्रावधान किया जाए ताकि लघु उद्योगों को फायदा मिल सके।

-गौरव मित्तल, अध्यक्ष लघु उद्योग भारती

जीएसटी को लागू हुए दो साल से अधिक का समय हो गया है, लेकिन अभी भी समस्याएं बरकरार हैं। आम बजट में ऐसा प्रावधान होना चाहिए कि अगले छह माह में जीएसटी की व्यवस्था में सरलीकरण हो जाए। ताला-हार्डवेयर उद्योग को बढ़ावा देने के लिए भवन निर्माण वाली योजनाओं को लांच किया जाए।

-नेकराम शर्मा, उद्यमी।

इंडस्ट्री को प्रमोट करने के लिए कृषि के बराबर कर्ज मिलना चाहिए। इंडस्ट्री व कृषि दोनों रोजगार पैदा कर रहे हैं और विदेशी मुद्रा अर्जित कर रहे हैं। इंडस्ट्री के लिए ब्याज व भूखंड सस्ती दरों पर मिलेंगे तो भारत का उद्योग चीन से आगे निकल सकता है। सब्सिडी बिचौलिए खा जाते हैं।

-मनोज कुमार अग्रवाल, प्रदेश सचिव लघु उद्योग भारती।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Finance Minister should create demand for products in the market