DA Image
Thursday, December 2, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेश अलीगढ़नोटबंदी, जीएसटी, लॉक डाउन ने अलीगढ़ के कारोबार को किया बर्बाद

नोटबंदी, जीएसटी, लॉक डाउन ने अलीगढ़ के कारोबार को किया बर्बाद

हिन्दुस्तान टीम,अलीगढ़Newswrap
Sun, 14 Nov 2021 07:15 PM
नोटबंदी, जीएसटी, लॉक डाउन ने अलीगढ़ के कारोबार को किया बर्बाद

नोटबंदी, जीएसटी, लॉक डाउन ने अलीगढ़ के कारोबार को किया बर्बाद

-सांसद औवेसी ने अलीगढ़ की सड़कों पर लगने वाले जाम को लेकर भी शाह पर साधा निशाना

फोटो-

कार्यालय संवाददाता। अलीगढ़।

अलीगढ़ में शोषित-वंचित समाज सम्मेलन को संबोधित करते हुए सांसद औवेसी ने कहा कि नोटबंदी, जीएसटी, लॉकडाउन ने अलीगढ़ के कारोबार का बर्बाद कर दिया। ताला-तालीम की नगरी की सड़कों पर जाम लगता है, वह गृहमंत्री अमित शाह को नहीं दिखता।

महेशपुर में सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि अलीगढ़ में बनने वाले ताला, हार्डवेयर उत्पाद दुनियाभर में मशहूर है। इस उद्योग धंधों से हर वर्ग जुड़ा हुआ है। भाजपा सरकार में पहले नोटबंदी, फिर जीएसटी और लॉकडाउन ने उद्योग-धंधों की कमर तोड़कर रख दी। अब महंगाई से जनता त्रस्त है। इस ओर सरकार का ध्यान नहीं है। पेट्रोल-डीजल पर 10-20 रूपए कम कर सकते हैं तो 40-50 रूपए क्यों नहीं कम कर सकते। अलीगढ़ की सड़कों पर लगने वाले जाम तो गृहमंत्री शाह पर तंज कसते हुए कहा कि गृहमंत्री को अलीगढ़ के ट्रैफिक जेम की फिक्र नहीं है, दूसरे जेम की फिक्र है।

0-सीएम पर तंज, वाह बाबा, कैसी सरकार चला रहे हैं

सांसद औवेसी ने कासगंज में पुलिस हिरासत में हुई अल्ताफ की मौत को लेकर प्रदेश सरकार को घेरते हुए सीएम पर तंज कसा। सांसद ने कहा कि थाने के बाथरूम में ढाई फीट ऊंचे टोली से लटकर अल्ताफ की मौत दर्शाई जाती है। ढाई बजे घटना होती है और चार बजे पुलिस अल्ताफ पर मुकदमा दर्ज करती है। क्योंकि मरने वाला मुसलमान है इसलिए कुछ नहीं होगा। अल्ताफ के पिता से लिखा लिया कि वह खुश हैं, जैसे मोदी-योगी से लोग खुश हैं। वाह, कैसी सरकार चला रहे हैं बाबा।

0-पुलिस वालों को औवेसी ने दे डाली चेतावनी

सांसद औवेसी ने गाजियाबाद में गौ तस्करी करने वालों के पैरों में गोली मारे जाने की घटना को लेकर पुलिस वालों को चेतावनी दी। कहा कि भाजपा हमेशा सत्ता में नहीं रहेगी। हम ये सब कभी नहीं भूलेंगे,कोई ज़ुल्म नहीं भूलेंगे, न ज़ालिम को भूलेंगे, एक-एक गोली का हिसाब लिया जाएगा।

0-मुसलमानों के वोट की कोई कीमत नहीं

औवेसी ने कहा कि लोकतंत्र में हमें अपना हक़ चाहिए, इसके लिए आवाज उठानी होगी। करवट लेनी होगी। आपके वोट की कीमत नहीं । अगर वोट कीमत होगी तो गृहमंत्री शाह ऐसी भाषा नहीं उपयोग करते, मस्जिदों की हिफाज़त होती, आज़म ख़ां जेल में नहीं होते। उन्होंने आव्हान किया कि वोट की ताकत का एहसास कराने के लिए अपनी खियादत को मजबूत करो। नारों को वोट में तबदील करो। कब तक दूसरों की सीढ़ी बनते रहोगे। कांग्रेस के नेता अमेठी से लड़े, हार गए। कहां से जीते वायनाड से। क्योंकि वहां 30 फीसदी मुसलमान है। सपा का भी यही हाल है। इन पार्टियों ने हमारी उम्मीदों को और हमारे नौजवानों को बर्बाद किया है।

0-महाराष्ट्र में हुई हिंसा की निंदा

सांसद औवेसी ने महाराष्ट्र के अमरावती में हुई हिंसा की निंदा। इसके साथ ही कहा कि यूपी में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। ऐसे में फिकरापरस्त ताकतों से सा‌वधान रहना होगा। यह लड़ाने की कोशिश करेंगे, लड़ना नहीं है, शांत रहिए, पुलिस में कम्प्लेंट कीजिए, कानून को हाथ में मत लीजिए।

0-जालिम नहीं चाहते थे कि जलसा हो

औवेसी ने सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि इस जलसे की अनुमति रात में ही दी गई है। बहुत कोशिश की गई कि यह जलसा न हो, लेकिन जालिमानों की कोशिश नाकाम हुई। उन्होंने अनुमति दिए जाने के लिए प्रशासन का धन्यवाद दिया।

0-लखीमपुर हिंसा पर भी बोले औवेसी

औवेसी ने कहा कि गृहमंत्री शाह ने एक सभा में मंच से कहते हैं कि मैं टेलीस्कॉप से देख रहा हूं कि प्रदेश अपराधमुक्त है। अपराधियों के लिए कोई जगह नहीं। इस दौरान प्रदेश के गृहमंत्री उनके बराबर में ही बैठे थे, यह वहीं हैं, जिनके बेटे ने चार किसानों को रौंद दिया। वह जेल में है।

0-कौम के अच्छे दिन कब आएंगे

एआईएमआईएम के प्रदेश अध्यक्ष शौकत अली ने कहा कि हमारे लहू की कीमत पानी से भी सस्ती हो गई है। अब हम यूपी में कामयाबी की तरफ बढ़ रहे हैं। खुद को औबेसी समझें, इस जमात को अपनी जमात समझें। सियासी परचम बनाओ, कौम के अच्छे दिन तब ही आएंगे जब सियासी परचम बनेगा।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें