DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

टीटीजेड जोन में उद्योगों के संचालन पर संकट

ताज ट्रिपेजियम जोन में आने वाले उद्योगों के संचालन पर संकट के बादल मंडराने लगे हैं। सुप्रीम कोर्ट के दखल के बाद ताजमहल जोन को प्रदूषण मुक्त रखने की कवायद तेज कर दी गई है। प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने टीटीजेड में संचालित सभी तरह के उद्योगों का ब्योरा तलब किया है। प्रदूषित उद्योगों के अलावा प्रदूषण नहीं फैलाने वाले उद्योगों का भी डाटा लखनऊ मुख्यालय ने मांगा है। टीटीजेड जोन में 15 साल पुराने डीजल वाहनों के संचालन व पंजीयन पर रोक लगा दी गई है।ताज ट्रिपेजियम जोन (टीटीजेड) में अलीगढ़ का टप्पल, हाथरस का सादाबाद व एटा का जलेसर शामिल हैं। 17 जुलाई को आगरा के मंडलायुक्त एवं ताज ट्रिपेजियम जोन के अध्यक्ष ने अलीगढ़ मंडल के विभिन्न विभागों के अफसरों के साथ बैठक की थी, जिसमें सुप्रीम कोर्ट के आदेश से अवगत कराया गया था। 17 जुलाई को आगरा में हुई बैठक के बाद कार्रवाई तेज हो गई है। प्रदूषण नियंज्ञण बोर्ड लखनऊ ने टीटीजेड जोन में संचालित उद्योगों का ब्योरा तलब किया है। सादाबाद, टप्पल व जलेसर में 50 से अधिक छोटी बड़ी इकाइयां शामिल हैं। प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड का मुख्य उद्देश्य टीटीजेड जोन को प्रदूषण से मुक्त रखना है। इसी के मद्देनजर ईंट भट्टों समेत अन्य उद्योगों को चेतावनी भी जारी की गई जा रही है।तीनों जगहों पर उद्योगों की मॉनिटरिंग होगी सख्तसादाबाद, टप्पल व जलेसर में संचालित होने वाले उद्योगों की देखरेख सख्ती के साथ की जाएगी। अभी हाल ही में एटा व हाथरस में कुछ अवैध भट्टियां भी ढहाई गईं थीं। कोई भी उद्योग बिना एसटीपी प्लांट के संचालित नहीं होगा। ताला, हार्डवेयर, दाल मिल, गत्ता फैक्ट्री समेत अन्य तरह के उद्योगों की सूचना लखनऊ भेजी जा जाएगी। संभागीय परिवहन विभाग ने अलीगढ़, हाथरस व एटा एआरटीओ प्रशासन को आदेश जारी किया है कि 15 साल पुराने डीजल वाहन का पंजीयन नहीं होगा। पंजीयन के साथ पुराने वाहन भी संचालित नहीं होगा।

बोले अधिकारी

ताज ट्रिपेजियम जोन में संचालित होने वाले उद्योगों का ब्योरा मुख्यालय भेजा रहा है। मुख्यालय से आदेश मिलने के बाद कार्रवाई की जाएगी। उद्योगों की मॉनिटरिंग बढ़ा दी गई है। -रामगोपाल, क्षेत्रीय अधिकारी प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड अलीगढ़।

टीटीजेड जोन में 15 साल पुराने डीजल वाहनों के पंजीयन पर तत्काल रोक लगा दी गई है। संचालन में भी एक सप्ताह में बंद करा दिया जाएगा।-निर्मल प्रसाद, आरटीओ प्रवर्तन अलीगढ़।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Crisis on the operation of industries in TTZ zone