DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वृहद गोसंरक्षण केंद्र निर्माण की जांच को बनी समिति

सीएम के दूत बनकर आए प्रमुख सचिव वीएमएस रामी रेड्डी ने वृहद गो संरक्षण केंद्र के निर्माण में घटिया सामग्री के इस्तेमाल और प्रमाण पत्र के एवज में वसूली पर विस्तृत जांच रिपोर्ट तलब की है। निर्माण की जांच के लिए दो सदस्यीय समिति बनाकर रिपोर्ट मांगी गई है। वहीं तहसील कर्मी पर भी कार्रवाई की तैयारी की तैयारी शुरू हो गई है। मंगलवार को प्रमुख सचिव ने गभाना तहसील के गांव नगरा ओगर राजू में बन रहे वृहद गो संरक्षण केंद्र के निर्माण का मुआयना किया था। सरकार से मिले 1.20 करोड़ रुपये से कराए जा रहे निर्माण में घटिया सामग्री के इस्तेमाल पर उन्होंने नाराजगी जाहिर की थी। दीवार पर किए जा रहे प्लास्टर में उन्हें सीमेंट की मात्रा कम और रेत की अधिक मिली थी। मानक मुताबिक सामग्री इस्तेमाल होने पर अफसरों से पूछताछ की तो बगलें झांकने लगे। जिम्मेदारों से पूछताछ पर उन्होंने मात्रा सही बताई। लेकिन जब प्रमुख सचिव ने दीवार पर हाथ लगाकर देखा तो हल्के इशारे से ही दीवार का प्लास्टर नीचे आ गिरा। इस पर प्रमुख सचिव ने जिम्मेदारों को जमकर आड़े हाथ लिया। इस मामले में डीएम के आदेश पर दो सदस्यीय जांच समिति बनाई है। इसमें लोनिवि एक्सईएन के अलावा एक अन्य अफसर को शामिल किया जा रहा है। इसके अलावा तहसील कोल में समाधान दिवस में प्रमाण पत्र बनाने के एवज में वसूली की शिकायत पर जांच में संबंधित कर्मचारी की जेब से रुपये मिले थे। इस मामले में भी प्रमुख सचिव के आदेश पर कार्रवाई की प्रक्रिया शुरू की जा रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Committee formed to investigate the creation of large scale conservation center