ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेश अलीगढ़सर्किल रेट: महंगी होगी गांव की जमीन, बिल्डरों को लगेगा झटका

सर्किल रेट: महंगी होगी गांव की जमीन, बिल्डरों को लगेगा झटका

सर्किल रेट: महंगी होगी गांव की जमीन, बिल्डरों को लगेगा झटका

सर्किल रेट: महंगी होगी गांव की जमीन, बिल्डरों को लगेगा झटका
Newswrapहिन्दुस्तान टीम,अलीगढ़Fri, 24 Jul 2020 03:33 AM
ऐप पर पढ़ें

कोरोना काल के बाद अब सर्किल रेट में बदलाव किए जाने की तैयारी कर ली गई है। इस बार जो ब्लू प्रिंट तैयार किया गया है। उसमें गांव की जमीन महंगी होने से बिल्डरों को झटका लगेगा। दरअसल सर्किल रेट में तो इजाफा नहीं किया जाएगा, लेकिन एक दर्जन से ज्यादा विकासशील गांव घोषित किए जाएंगे। इससे खैर रोड, दिल्ली-जीटी रोड, असदपुर कयाम सहित छह मुख्य मार्ग प्रभावित होंगे। एक अगस्त से लागू होने वाले नए सर्किल रेट को लेकर उप निबंधन विभाग की ओर से प्रस्तावित सूची जारी कर दी है। शुक्रवार से सभी तहसीलों के उपनिबंधन कार्यालयों में यह सूची चस्पा हो जाएगी। प्रशासन की ओर से हर साल नए सर्किल रेट लागू किए जाते हैं। 2017 से सर्किल रेटों को नहीं बढ़ाया गया है। इस साल कोराना काल में प्रशासन ने फिर से तैयारी कर ली है। हालांकि इस बार सर्किल रेट नहीं बढ़ेंगे, लेकिन कुछ क्षेत्रों को चिन्हित कर नई श्रेणियों में जोड़ दिया गया है। महत्वपूर्ण बात यह है कि इस बार पांच निबंधन कार्यालय के अर्न्तगत आने वाले मुख्य मार्ग से सटे व आबादी के बीच वाले गांव को विकासशील गांव के दायरे में लाने की तैयारी कर ली है। इसमें सबसे ज्यादा खैर रोड, दिल्ली-जीटी रोड, गोंडा रोड, मथुरा रोड, अनूपशहर रोड, आगरा रोड पर आने वाले गांव आएंगे। एआइजी स्टांप ज्ञानेंद्र कुमार ने बताया कि प्रस्तावित सूची तैयार हुई है। शुक्रवार से इसे सभी तहसीलों में चस्पा कर दिया जाएगा। आपत्ति आने के बाद डीएम की अध्यक्षता में सर्किल रेट पर अंतिम चर्चा होगी। फिर एक अगस्त से नई दरें लागू कर दी जाएंगी। 0-क्या होती है विकासशील गांव की परिभाषामुख्य मार्ग व आबादी से सटे ऐसे गांव जहां अकृषक गतिवधि के अलावा अन्य गतिविधियां बढ़ती है। उन्हें विकासशील गांव कहा जाता है। यहां एक हजार मीटर से कम रकबे वाली भूमि का बैनामा निकटतम जमीन के रेट से दोगुने में होगा। उदाहरण के तौर पर विकासशील गांव में आने से पहले जो जमीन 80 लाख की थी। वह अब दुगनी एक करोड़ 60 लाख रुपए की हो जाएगी। 0-शहरी क्षेत्र में कई इलाके होंगे नई सेगमेंट में शामिलशहरी क्षेत्र में कई ऐसे इलाके थे। जो सर्किल रेट की श्रेणी में नहीं आते थे। इस वजह से वहां मोहल्ले की दर से बैनामे हो जाते थे। अब इन क्षेत्रों को सर्किल रेट की श्रेणी में शामिल किया जा रहा है। 0-यह सर्किल रेट की श्रेणी में होंगे शामिल-असदपुर कयाम तिराहे से असदरपुर होते हुए ओजोन सिटी तक-स्वर्ण जयंती नगर से नगला तिकोना होते हुए सुरेंद्र नगर तक-मामू भांजा मीरीमल प्याऊ से मुख्य पत्थर बाजार तक-कोल तहसील तिराहे से जेल फाटक पुल तक-खैर रोड पर नादा पुल से दो प्रमुख मोहल्लों की सड़क--

सर्किल रेट में जो बदलाव किए जा रहे हैं। उसकी सूची तहसील मुख्यालयों पर चस्पा शुक्रवार से हो जाएगी। जिस पर लोग अपनी आपत्ति दर्ज करा सकते हैं। एक अगस्त से नए सर्किल रेट लागू होंगे।-ज्ञानेन्द्र कुमार, एआईजी स्टाम्प

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें