DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सीएम का फरमान-कर्जमाफी की निस्तारित शिकायतों की करें जांच

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कृषक ऋण मोचन योजना के तहत दर्ज कराई गई शिकायतों के निस्तारण की जांच के आदेश दिए हैं। कहा है कि बैंक में इस बात की तस्दीक कराई जाए कि जिन किसानों का कर्जमाफ किया गया है क्या उन्होंने ही रसीद पर हस्ताक्षर किए हैं। या किसी और ने। आदेश मिलने के बाद से ही सीडीओ ने इसके लिए तैयारी शुरू कर दी है।

मंगलवार की देर शाम मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेशभर के सभी जनपदों के अफसरों से वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिए संपर्क साधा था। इसमें अलीगढ़ जनपद के अफसरों से भी कृषक ऋण मोचन योजना के तहत आई शिकायतों व उनके निस्तारण की स्थिति जानी। इस दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि जो शिकायतें निस्तारित हुई हैं उसका भी सत्यापन कराया जाए। कहीं कोई गड़बड़ी तो नहीं हुई है।

दस टीमें बनाएंगे : सीडीओ

इसे लेकर जिला स्तर पर अफसरों ने तैयारी करना शुरू कर दिया है। सीडीओ दिनेश चंद्र ने बताया कि मुख्यमंत्री के आदेश पर जिले में कम से कम दस टीमें बनाई जाएंगी। शिकायत निस्तारण की हकीकत परखने के लिए रैंडम चेकिंग की जाएगी। टीमों को रवानगी से पहले ही बैंक शाखा का नाम बताया जाएगा। जो भी स्थिति सामने आती है उसकी रिपोर्ट बनाकर शासन को भेजी जाएगी।

56 हजार किसानों ने दर्ज कराई थी शिकायतें

सीडीओ ने बताया कि जिले में कुल 56 हजार शिकायतें दर्ज हुई थीं, जिनका तय समय में निस्तारण कर दिया गया। पहली बार में 11975 और दूसरी बार में 9407 किसानों को लाभ भी दिलाया गया। सूबे में जनपद ऋण मोचन योजना में टॉप थ्री में शामिल हुआ था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Check out the grievances redressed complaints