DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  अलीगढ़  ›  कूड़ेदान में फेंकने वाली एएनएम की होगी सेवा समाप्त, दर्ज होगा मुकदमा
अलीगढ़

कूड़ेदान में फेंकने वाली एएनएम की होगी सेवा समाप्त, दर्ज होगा मुकदमा

हिन्दुस्तान टीम,अलीगढ़Published By: Newswrap
Thu, 27 May 2021 04:01 AM
कूड़ेदान में फेंकने वाली एएनएम की होगी सेवा समाप्त, दर्ज होगा मुकदमा

जमालपुर अर्बन प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र की एएनएम की सेवा समाप्त होगा। केन्द्र पर वैक्सीन से भरी सीरिंज कूड़ेदान में फेंकने में जिन-जिन की लापरवाही सामने आई है। उन सभी के खिलाफ मुकदमा दर्ज होगा। यह बातें बुधवार को डीएम ने कहीं।

डीएम चंद्रभूषण सिंह ने बताया कि शहर के जमालपुर अर्बन पीएचसी पर को-वैक्सीन से भरी सिरिंज कचरे में फेंकने के मामले में आरोपी एएनएम निहा खान को कारण बताओ नोटिस जारी करने के साथ ही उसकी सेवा समाप्ति के आदेश स्वास्थ्य विभाग को दिए गए हैं। इसके साथ ही आदेश दिया है कि जांच रिपोर्ट में जो भी जिन-जिन लोगों की जो लापरवाही पाई गई है, उनके आधार पर मुकदमा भी दर्ज कराया जाएगा। डीएम ने कहा कि गंभीर श्रेणी का अपराध सहन नहीं किया जाएगा।

0-ये है मामला

जमालपुर अर्बन पीएचसी को वैक्सीन सेंटर बनाया गया है। इस इलाके में काफी लोग कोरोना संक्रमित भी मिले हैं, लिहाजा रोजाना 250 तक वैक्सीन का लक्ष्य रखा गया है। यहां 18 से 45 वर्ष आयु के लिए दी गई वैक्सीन (कोवैक्सीन) भरी सिरिंज कचरे में फेंकने की बात सामने आई। मामले में स्वास्थ्य विभाग ने जांच शुरू की। मंगलवार को स्वास्थ्य विभाग की टीम ने पीएचसी पहुंचकर जांच की। इसमें वैक्सीनेशन करने वाली दोनों एएनएम हिना खान व अन्नू, स्टाफ नर्स सोनम राजौरिया और प्रभारी चिकित्साधिकारी डा. आरफीन जेहरा के बयान दर्ज किए गए। एएनएम ने सिरिंज खराब होना बताया था। जांच करने पहुंचे एसीएमओ डा. दुर्गेश कुमार व डा. एमके माथुर ने सबसे पहले वैक्सीनेशन करने वाली दोनों एएनएम व स्टाफ नर्स के बयान दर्ज किए थे। बुधवार को समिति ने जिला प्रशासन को अपनी रिपोर्ट सौंप दी।

0-पांच प्रतिशत वैक्सीन टीकाकरण में हो रही बर्बाद

अलीगढ़ जनपद में प्रतिदिन करीब पांच प्रतिशत वैक्सीन बर्बाद हो रही है। स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक 1.5 प्रतिशत कोविशील्ड व 3.5 को-वैक्सीन बर्बाद हो रही है। शहर में बर्बाद होने का प्रतिशत माइनस में है।

0-अब तक ढाई लाख लोगों को वैक्सीन की दोनों डोज लगीं

अलीगढ़ में अब तक ढाई लाख लोगों को कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज लग चुकी हैं। स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक 45 प्लस में दोनों डोज अब तक लग चुकी हैं।

0-साइट खुलते ही सप्ताह का स्लॉट हो जाता है बुक

टीकाकरण साइट खुलते ही कुछ ही देर में पूरे सप्ताह के स्लॉट बुक हो जाता है। जिले में 18 से 44 वर्ष तक के युवाओं का टीकाकरण जब से शुरू हुआ ह। तब से साइट खुलने के कुछ ही घंटे के अंदर इस पूरे सप्ताह के स्लॉट बुक हो जाते हैं। कृष्णाटोला निवासी ओजस्वी देव गुप्ता ने बताया कि जब से सरकार ने 18 प्लस युवाओं को वैक्सीन लगाने के आदेश दिए हैं, तब से टीकाकरण की रफ्तार बढ़ गई है। विशेष रूप से युवाओं में टीकाकरण को लेकर एक अलग ही उत्साह देखने को मिल रहा है। साइट पर पंजीकरण के कई दिनों के बाद ऑनलाइन वैक्सीन लगाने का स्लॉट बुक हो रहे हैं। कई सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर तो स्लॉट खाली ही नहीं हैं।

संबंधित खबरें