ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेश अलीगढ़एएमयू छात्रों के सोशल मीडिया एकाउंट्स की निगरानी शुरू

एएमयू छात्रों के सोशल मीडिया एकाउंट्स की निगरानी शुरू

पुलवामा हमले के बाद कश्मीर मूल के छात्र वासिम हिलाल के टिप्पणी करने व एएमयू बवाल को लेकर पुलिस ने दोषियों पर अपना शिकंजा कसना शुरू कर दिया...

एएमयू छात्रों के सोशल मीडिया एकाउंट्स की निगरानी शुरू
हिन्दुस्तान टीम,अलीगढ़Mon, 18 Feb 2019 01:33 AM
ऐप पर पढ़ें

पुलवामा हमले के बाद कश्मीर मूल के छात्र वासिम हिलाल के टिप्पणी करने व एएमयू बवाल को लेकर पुलिस ने दोषियों पर अपना शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। दोषियों की गिरफ्तारी को जहां निरंतर प्रयाए किए जा रहे हैं वहीं एएमयू छात्रों के सोशल मीडिया एकाउंट्स की निगरानी भी शुरू कर दी है। इसके साथ ही छात्र व आमजन से वीडियो, मैसेज व फोटो आदि मुहैया कराने की अपील की है।12 फरवरी को एआईएमआईएम अध्यक्ष असदउद्दीन ओवैसी के आगमन के विरोध और समर्थन को लेकर एएमयू छात्रों के दो गुटों में टकराव हो गया था। इस दौरान बेल्ट, सरिया, रॉड से लेकर कई राउंड फायरिंग भी हुई थी। इस मामले में दोनों पक्ष की ओर से पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है, वहीं एक मुकदमा खबरिया चैनेल के रिपोर्टर व एक भाजयुमो जिलाध्यक्ष की तहरीर पर देशद्रोह में दर्ज किया गया था।अभी इस बवाल को लेकर मामला शांत नहीं हुआ था कि कश्मीर मूल के एक छात्र वासिम हिलाल ने 14 फरवरी को सीआरपीएफ जवानों पर हुए हमले को लेकर आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद का समर्थन किया था। छात्र की गिरफ्तारी को निरंतर प्रयास किए जा रहे हैं। पुलिस ने एएमयू छात्रों के सोशल मीडिया मसलन फेसबुक, व्हाट्सएप और ट्वीटर एकाउंट्स की निगरानी भी बढ़ा दी है। हर मैसेज, वीडियो और फोटो पर नजर रखी जा रही है। पुलिस ने इसमें आमजन व एएमयू छात्रों का भी सहयोग मांगा है।

मीडिया सेल को एक्टिव किया गया है, एएमयू छात्रों के फेसबुक, ट्विटर आदि सोशल मीडिया के एकाउंट्स की निगरानी कराई जा रही है। हर मैसेज की जानकारी जुटाई जा रही है। एएमयू के छात्र व आमजन से भी इसमें सहयोग की अपील की गई है।-आकाश कुलहरि, एसएसपी।