DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › अलीगढ़ › अनियमितता में फंसे अलीगढ़ एडी हेल्थ, शासन ने बिठाई जांच
अलीगढ़

अनियमितता में फंसे अलीगढ़ एडी हेल्थ, शासन ने बिठाई जांच

हिन्दुस्तान टीम,अलीगढ़Published By: Newswrap
Mon, 11 Oct 2021 08:50 PM
अनियमितता में फंसे अलीगढ़ एडी हेल्थ, शासन ने बिठाई जांच

-मिर्जापुर में सीएमओ रहते हुए एडी हेल्थ डॉ. एसके उपाध्याय ने किया था एंबुलेंस में भारी अनियमितता

-राज्यपाल के आदेश पर सचिव रविंद्र कुमार ने बैठाई जांच, निदेशक प्रशासन की रिर्पोट पर होगी कार्रवाई

फोटो संख्या :

अलीगढ़, कार्यालय संवाददाता। अपर निदेशक चिकित्सा एवं स्वास्थ्य परिवार कल्याण अलीगढ़ मंडल पर शासन ने अनियमितता के आरोप में जांच बिठा दी है। अलीगढ़ एडी हेल्थ द्वारा तत्कालीन मिर्जापुर मुख्य चिकित्सा अधिकारी के पद रहते हुए एनआरएचएम में तैनात गाड़ियों की निविदा में अनियमितता करने व मनमाने ढंग से कार्रवाई करने का आरोप है। राज्यपाल के आदेश से सचिव ने जांच अधिकारी नियुक्त करते हुए एक माह में रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिए हैं।

शासन द्वारा जारी पत्र के मुताबिक अपर निदेशक चिकित्सा एवं स्वास्थ्य परिवार कल्याण अलीगढ़ मंडल डॉ. सुरेन्द्र कुमार उपाध्याय तत्कालीन सीएमओ, मीरजापुर पद पर तैनाती अवधि के दौरान राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अन्तर्गत 39 गाडि़यों के संविदा में अनियमितता करने, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अंतर्गत वाहन उपलब्धता हेतु सेवा प्रदाता के चयन में ई-निविदा की कार्यवाही निष्पक्ष ढंग से सम्पादित न कराये जाने, मानमाने ढंग से कार्य करने, शासकीय कर्तव्यों एवं पदीय दायित्वों के निर्वहन में गम्भीर लापरवाही बरतने आदि के लिए प्रथमदृष्टया दोषी पाते हुए डॉ. सुरेन्द्र कुमार उपाध्याय के विरुद्ध उत्तर प्रदेश सरकारी सेवक नियमावली, 1999 के नियम-7 के अन्तर्गत विभागीय कार्यवाही की गई है। डॉ. सुरेन्द्र कुमार उपाध्याय के विरुद्ध विभागीय कार्यवाही में उनके विरुद्ध लगाए गए आरोपों की जांच के लिए निदेशक (प्रशासन), चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सेवाएं उत्तर प्रदेश लखनऊ को जांच अधिकारी नामित किया गया है। उत्तर प्रदेश सचिव रविंद्र द्वारा एक माह में जांच रिपोर्ट पेश करने के निर्देश जारी किए गए हैं।

एडी हेल्थ के लिए स्वास्थ्य समिति जरूरी नहीं

अलीगढ़ स्वास्थ्य संबंधी निर्णयों को मंजूरी प्रदान करने के लिए जिला स्वास्थ्य समिति का गठन किया गया है। जिसकी मंजूरी के बिना अपर निदेशक चिकित्सा स्वास्थ्य परिवार कल्याण अलीगढ़ मंडल कोई नए आदेश नहीं दे सकते हैं। लेकिन अलीगढ़ अपर निदेशक स्वास्थ्य द्वारा जिला स्वास्थ्य समिति के अधिकारों का भी अतिक्रमण किया गया है। जिसके संबंध पांच बिन्दुओं पर उन्हें नोटिस भी जारी किया गया है।

यह हैं मुख्य बिन्दु

1. अपर निदेशक नौ अप्रैल 2021 के द्वारा नगरीय प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र हमदर्द नगर जमालपुर पर कार्यरत संविदा स्टॉफ नर्स मीनाक्षी का स्थानान्तरण पीपीसी ब्रहम्नपुरी पर बिना जिला स्वास्थ्य समिति के अनुमोदन के कर दिया।

2. अपर निदेशक 13 अपैल 2021 के द्वारा नगरीय प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र केके जैन पर कार्यरत संविदा स्टॉफ नर्स आरती का स्थानान्तरण नगरीय प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पला साहिबाबाद पर बिना जिला स्वास्थ्य समिति के अनुमोदन के कर दिया।

3- अपर निदेशक द्वारा सतवीर सिंह स्टॉफ नर्स (संविदा) की सेवा समाप्ति की अनुशंसा बिना जिला स्वास्थ्य समिति के अनुमोदन के कर दी गई।

4. अपर निदेशक द्वारा 14 जून को सतवीर सिंह स्टॉफ नर्स को 02 इन्कीमेंट वापस करते हुए संविदा समाप्ति निरस्त कर संविदा बहाली के निर्देश बिना जिला स्वास्थ्य समिति के अनुमोदन के जारी कर दिए गए।

मांगा गया था स्पष्टीकरण

अपर निदेशक, चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, अलीगढ़ मण्डल द्वारा स्थानान्तरण, संविदा समाप्ति, दो वेतन वृद्धि रोकना एवं संविदा बहाली के आदेश बिना जिला स्वास्थ्य समिति के अनुमोदन के सह अध्यक्ष जिला स्वास्थ्य समिति/अपर निदेशक, अलीगढ़ मण्डल अलीगढ़ के नाम से जारी किए गए। जो कि मुख्य सचिव के 2014 में जारी गाइडलाइन के विरुद्ध है। अध्यक्ष जिला स्वास्थ्य समिति तत्कालीन जिला अधिकारी चंद्र भूषण सिंह ने उक्त प्रकरण में आदेश दिए थे कि नियमों का अतिक्रमण एक गंभीर प्रकरण है। अपर निदेशक अलीगढ़ मण्डल अलीगढ़ को नियमों का अतिक्रमण कर जारी किए गए इन आदेशों के सम्बन्ध में एक स्पष्टीकरण मांगा गया था।

वर्जन

इस संबंध में तत्कालीन कलक्ट्रेट ने जांच की थी, जिसमें मैं अपना स्पष्टीकरण दे चुका हूं। शासन द्वारा अगर फिर से स्पष्टीकरण मांगा जाएगा तो जवाब दाखिल किया जाएगा। साथ जिला स्वास्थ्य समिति को भी अपना स्पष्टीकरण दे चुका हूं।

डॉ. एसके उपाध्याय, अपर निदेशक चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण अलीगढ़ मंडल

संबंधित खबरें