ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेश अलीगढ़139 करोड़ का प्रोजेक्ट जलभराव से दिलाएगा निजात

139 करोड़ का प्रोजेक्ट जलभराव से दिलाएगा निजात

पानी वाले पैकेज का जोड़ -स्मार्ट सिटी में नए सिरे से नाले-नालियों का कराया जा

139 करोड़ का प्रोजेक्ट जलभराव से दिलाएगा निजात
Newswrapहिन्दुस्तान टीम,अलीगढ़Mon, 27 Jun 2022 11:30 PM
ऐप पर पढ़ें

पानी वाले पैकेज का जोड़

-स्मार्ट सिटी में नए सिरे से नाले-नालियों का कराया जा रहा निर्माण

-भौगोलिक दृष्टिकोण से शहर में बने नाले नालियों में है इंजीनियरिंग दोष

-अलीगढ़ ड्रेनेज सिस्टम मजबूत करने को स्मार्ट सिटी ने खींचा खाका

-स्ट्रार्म वाटर ड्रेनेज सिस्टम के तहत जल निकासी को बनाया जाएगा बेहतर

-अलीगढ़ स्मार्ट सिटी का सबसे मंहगा प्रोजेक्ट अर्बन प्लानिंग टीम ने किया तैयार

-एबीडी एरिया में 100 किलोमीटर के नाले, नालियों का नए सिरे होगा निर्माण

अलीगढ़।

स्ट्रार्म वाटर ड्रेनेज सिस्टम से महानगर की जल निकासी व्यवस्था मजबूत होगी। 139 करोड़ रुपये का प्रोजेक्ट शुरू किया गया है। हालांकि इस बारिश में इसका लाभ नहीं मिलेगा, लेकिन 2023 में योजना धरातल पर आएगी। स्मार्ट सिटी ने टेंडर कराकर इस पर काम भी शुरू करा दिया है। स्ट्रोम वाटर ड्रेनेज सिस्टम अलीगढ़ स्मार्ट सिटी का अब तक का सबसे मंहगा व बड़ा प्रोजेक्ट है। स्मार्ट सिटी की माने तो इस व्यवस्था के बाद शहर में एक बूंद पानी नहीं भरेगा।

स्मार्ट सिटी की अर्बन प्लानिंग टीम ने शहर के डे्रनेज सिस्टम का सर्वे किया था, जिसमें ड्रेनेज सिस्टम को बनाई गई नाली व नाले का स्ट्रक्चर इंजीनियरिंग कसौटी पर खरा नहीं उतरा था। इसके बाद स्मार्ट सिटी की टीम ने अलीगढ़ के ड्रेनेज सिस्टम को मजबूत बनाने के लिए नए सिरे से प्लान तैयार किया। स्ट्रार्म वाटर ड्रेनेज सिस्टम के तहत प्लान तैयार कर इसका भौगोलिक अध्ययन भी किया गया। स्ट्रार्म वाटर ड्रेनेज सिस्टम पर 139 करोड़ रुपये खर्च होंगे।

इस तरह से स्मार्ट सिटी में होगी जल निकासी की व्यवस्था

- स्ट्रोम वाटर ड्रेनेज सिस्टम के तहत स्मार्ट सिटी के एबीडी एरिए में पांच स्क्वायर किलो मीटर के दायरे में 100 किलोमीटर के नाले-नालियों का नए सिरे से निर्माण होगा। जो नाले-नालियां जल निकासी के लिए बने हैं वह दोबारा बनाए जाएंगे। स्मार्ट सिटी के सर्वे के मुताबिक नाले नालियों का निर्माण इस तरह होगा, जिससे पानी का फ्लो एक ओर होगा। अभी तक बने नालों का फ्लो तकनीकी रूप से सही नहीं है। नालियों को शहर के नालों से और नालों को बड़े ड्रेनेज से जोड़ा जाएगा। नाले-नालियों का आधार इस तरह तैयार किया गया है कि सामान्य दिनों में भी जलभराव नहीं होगा और बारिश का पानी आसानी से निकलेगा। बारिश के बाद अलीगढ़ में जलप्लावन वाली स्थिति नहीं आएगी।

epaper