Yogi said earlier government used to think of family but we all - पहले की सरकार परिवार का सोचती थी, हम सबकाः योगी आदित्यनाथ DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पहले की सरकार परिवार का सोचती थी, हम सबकाः योगी आदित्यनाथ

पहले एक परिवार विशेष के लोग अपने बारे में ही सोचते थे, लेकिन हम सबके बारे में सोच रहे हैं। दो लाख नई नौकरियां ला रहे हैं। इसमें सभी को बराबर अवसर होंगे। फिरोजाबाद में कांच के अलावा आलू किसानों के लिए जल्द ही अंतर्राष्ट्रीय केंद्र बनाया जाएगा। ये तीखे तेवर और जिले की सौगातेें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को दीं। वो टूंडला के ठाकुर बीरी सिंह इंटर कॉलेज मैदान पर सभा को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने 391करोड़ की योजनाओं का शिलान्यास और करोड़ों की 132 परियोजनाओं का लोकार्पण किया।
अपने चिरपरिचित तेवरों में उन्होंने बिना नाम लिए हुए पूर्ववर्ती सपा सरकार पर हमला बोला। कहा कि विकास की न तो जाति होती है, न मजहब, ये सबके लिए होना चाहिए। इसके अलावा मोदी सरकार के कामों का बखान करते हुए कहा कि अनुच्छेद 370 आतंकवाद का पर्याय बन चुकी थी। 70 साल से इसे कोई समाप्त नहीं कर पाया श्यामा प्रसाद मुखर्जी डॉक्टर भीमराव अंबेडकर ने भी अपना बलिदान दे दिया लेकिन भाजपा कि केंद्र की सरकार ने इसे खत्म करने का ऐतिहासिक निर्णय लिया प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसे हटाकर साहसिक कार्य किया है अब आतंकवाद की ताबूत पर अंतिम कील ठोक दी गई है अब जम्मू कश्मीर में विकास नजर आएगा। उन्होंने संवाद शैली में लोगों से पूछा क्या अनुच्छेद 370 को कांग्रेस या सपा सरकार खत्म करतीं। अपनी सरकार के कामों को गिनाते हुए उन्होंने कहा कि प्रदेश में बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ के लिए काम किया गया। तीन करोड़ परिवारों को शौचालय दिए गए। प्रदेश में 6 करोड़ लोगों को आयुष्मान योजना का लाभ मिल रहा है।
 
आलू किसानों के अंतर्राष्ट्रीय केंद्र जल्द
सीएम योगी आदित्यनाथ ने सभा के मंच से घोषणा की कि फिरोजाबाद के कांच अलावा आलू किसानों के लिए अंतर्राष्ट्रीय केंद्र बनाया जाएगा। फिरोजाबाद की वैश्विक पहचान है। यहां की कांच की प्रतिकृति देश दुनिया देखेगी। उत्तर प्रदेश में औद्योगिक निवेश और सुरक्षा का वातावरण है इससे प्रदेश में रोजगार बढ़ेंगे। उन्होंने लोगों से आह्वान करते हुए कहा कि भाजपा की केंद्र और राज्य सरकार आपके साथ है आप भी इसे जनांदोलन बनाकर साथ दें। मुख्यमंत्री ने विभिन्न योजनाओं के जनपद भर के लाभार्थियों को भी कार्यक्रम में सम्मानित किया।
 
पूरे फिरोजाबाद को मिलेगा गंगाजल 
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने टूंडला के ठाकुर बीरी सिंह इंटर कॉलेज मैदान में आयोजित कार्यक्रम में कहा कि अभी तक जेडा झाल परियोजना के तहत फिरोजाबाद को ही गंगाजल मिल रहा है। अब पूरे जिले को गंगा जल उपलब्ध कराने की योजना तैयार की जा रही है। घर-घर इसके लिए नल लगाए जाएंगे। सभी को गंगाजल उपलब्ध होगा। उन्होंने कहा जहां आरसैनिक फ्लोराइड की मात्रा है उन जिलों को प्राथमिकता के आधार पर चयन किया गया है। और इसमें फिरोजाबाद को भी शामिल किया गया है।
 
जिले की छवि धूमिल नहीं होने देंगे
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि फिरोजाबाद की अपनी अलग पहचान है। यहां कांच का उद्योग है। यह चूड़ियों तक ही सीमित नहीं रहेगा। इसके विकास की पटकथा भी लिखी जाएगी। पूरी ईमानदारी के साथ यहां पर लोग काम करते हैं। मजदूर लगातार फैक्ट्रियों में काम करते हैं। ऐसे में कुछ पार्टियों ने जिले की छवि धूमिल करने का प्रयास पहले किया होगा, लेकिन यह सरकार ऐसा नहीं होने देगी।
 
इन परियोजनाओं का किया लोकार्पण, शिलान्यास
मुख्यमंत्री ने टूंडला में कार्यक्रम के दौरान योजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया। सीएम योगी आदित्यनाथ ने ठाकुर बीरी सिंह के मैदान से शिकोहाबाद-फिरोजाबाद के 100 लाभार्थियों को आश्रय भवन का तोहफा दिया। उस्मानपुर-चनारी मार्ग का शिलान्यास किया। ककरऊ कोठी के निकट बनी कान्हा गोशाला, अनवारा, पचोखरा, शंकरपुर, चुल्हावली में अंत्येष्टि स्थल का लोकार्पण किया।
सीएम ने जसराना नवीन नहर परियोजना और फिरोजाबाद-रूपसपुर-बाहिदपुर मार्ग पर कानपुर-टूंडला रेल सेक्शन पर रेल उपरगामी सेतु यानी आरओबी का लोकार्पण किया। इसके साथ ही आसफाबाद चौराहे से फतेहाबाद मार्ग पर और उखरेंड से भदान मार्ग, हिरनगांव से टूंडला स्टेशन मार्ग पर रेल उपरगामी सेतु (आरओबी) की आधार शिला को रखा। सीएम ने शिकोहाबाद और टूंडला तहसील में राजकीय इंटर कालेज की स्थापना की आधारशिला को रखा। पिपरौली से गंगापुर मार्ग, एरई सिकंदरपुर मार्ग से नगला बीरी मार्ग, जलेसर से जवाहरपुर मार्ग की आधारशिला रखी।

इन कार्यों के शिलान्यास
मुख्यमंत्री ने मंच से सात विभागों के लाखों रुपये की लागत के 61 विकास कार्यों का शिलान्यास किया। इसमें नगर निगम के 14 कार्य जिनकी लागत 328.21 करोड़ रुपये, यूपीआरएनएसएस के पांच कार्य जिसकी लागत 810.18 लाख रुपये, पीडब्ल्यूडी के चार कार्य जिनकी लागत 143.78 लाख रुपये है, का शिलान्यास किया। वहीं यूपी प्रोजेक्ट कारपोरेशन के 176.43 लाख रुपये के कार्यों का, सेतु निगम के 111518.86 लाख के तीन कार्यों का, ग्रामीण अभियंत्रण के 1074.46 लाख के दो कार्यों का, राजीय निर्माण निगम के 176 लाख के तीन विकास कार्यों का शिलान्यास किया।
 
रैली को लेकर रही कड़ी सुरक्षा
सीएम की रैली को लेकर अधिकारियों ने पूरी मुस्तैदी बरती। इसके लिए कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के प्रबंध किए गए थे। एसएसपी सचिंद्र पटेल ने बताया कि सुरक्षा के लिए छह एएसपी, 200 निरीक्षक और उपनिरीक्षक, चार कंपनी पीएसी, 700 पुलिसकर्मियों की तैयारी की गई है। सादी वर्दी में पुलिस ने सभा पर नजर रखी।

शिक्षकों को रोका, आंगनबाड़ी कार्यकर्त्रियों का हंगामा
सीएम की रैली को लेकर चर्चा गरम हो गई कि प्रेरणा एप के विरोध में शिक्षक काले झंडे दिखाकर विरोध करेंगे। इसकी सूचना के बाद पुलिस टीमों को सक्रिय कर दिया। हर आने जाने वाले पर नजर रखी जा रही  थी। इतना ही नहीं कोई काला कपड़ा लेकर जो कार्यक्रम स्थल पर तो नहीं जा रहा इसके लिए तलाशी के दौरान सतर्कता रखी गई। हालांकि  बढ़ा वेतन दिलाने की मांग लेकर आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और आशाओं ने जनसभा में हंगामा कर दिया। यही नहीं सीएम के जाने के बाद कुर्सियां तोड़ीं।  

इन विभागों ने लगाए अपने स्टाल
लोगों को सरकारी योजनाओं की जानकारी देने के लिए स्टाल लगाई गईं। लोग इन स्टालों पर जाकर योजनाओं के बारे में पूछते नजर आए। कार्यक्रम स्थल पर  पंचायती राज, आयुष, महिला कल्याण, लोक निर्माण, मत्स्य विभाग, स्वास्थ्य विभाग, शिक्षा विभाग, बाल विकास, उद्योग, उद्यान विभाग, जलनिगम, कृषि विभाग, नगर निगम, खादी ग्रामोद्योग समेत 16 विभागों ने अपने स्टालों को लगाया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Yogi said earlier government used to think of family but we all