DA Image
21 सितम्बर, 2020|12:54|IST

अगली स्टोरी

छावनी की मतदाता सूची बनाने का काम हुआ बंद

default image

कोरोना संक्रमण के चलते अब आगे नहीं होगा सूची बनाने का काम

आगरा। वरिष्ठ संवाददाता

कोरोना संक्रमण के चलते छावनी परिषद ने मतदाता सूची का काम बंद कर दिया है। छावनी एक्ट के अनुसार, हर साल नए सिरे से मतदाता सूची बनती है। इस बार आधा काम होने के बाद काम बंद कर दिया है। अब 2021 में मतदाता सूची बनाने का काम नए सिरे से शुरू होगा। गौरतलब है कि 2021 में ही छावनी परिषद के चुनाव भी प्रस्तावित हैं।

छावनी के सिविल एरिया के आठ वार्डों के लिए प्रत्येक पांच वर्ष पर चुनाव होते हैं। छावनी एक्ट- 2006 के अनुसार चुनाव की मतदाता सूची हर साल बननी चाहिए। इस नियम का पालन करने के लिए छावनी परिषद अपने शिक्षकों की मदद से मई से जुलाई तक अभियान चलाकर मतदाता सूची बनाता है। इसके बाद मतदाताओं को नाम बढ़वाने, नाम कटवाने अथवा नाम सही कराने के आवेदन का मौका दिया जाता था। इस बार मतदाता सूची बनाने के काम को बीच में ही बंद कर दिया गया है। कोरोना संक्रमण के चलते ऐसा किया गया है। छावनी सूत्रों का कहना है कि आवेदनों पर होने वाली सुनवाई कोरोना संक्रमण के चलते कोई सैन्य अधिकारी करना नहीं चाहता है। इस वजह से काम बीच में ही बंद कर दिया गया है।

25 हजार से अधिक हैं मतदाता

जनवरी 2015 में छावनी परिषद के चुनाव में करीब 25 हजार मतदाता थे। इस वर्ष बनीं मतदाता सूची में करीब 26 हजार मतदाता थे। सभी मतदाता छावनी के आठ वार्ड के चुनाव में अपने मताधिकार का उपयोग करते हैं। मतदाता सूची में सैन्य मतदाताओं के नाम भी शामिल होते हैं।

कोरोना संक्रमण के चलते मतदाता सूची बनाने का काम बंद कर दिया गया है। अब अगले वर्ष नए सिरे से काम शुरू होगा।

डॉ. अशोक शर्मा, पीआरओ

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:The work of making the electoral list of the camp stopped