DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › आगरा › तीन हजार छात्रों के ‘नॉट क्लीयर की समस्या होगी निस्तारित
आगरा

तीन हजार छात्रों के ‘नॉट क्लीयर की समस्या होगी निस्तारित

हिन्दुस्तान टीम,आगराPublished By: Newswrap
Mon, 11 Oct 2021 06:40 PM
तीन हजार छात्रों के ‘नॉट क्लीयर की समस्या होगी निस्तारित

-डॉ. भीमराव आंबेडकर विश्वविद्यालय में परिणाम की समस्या सुनने को लगी डेस्क

-पर्यावरण अध्ययन के पेपर में छात्रों को दिखाया था बिना पेपर हुए नॉट क्लीयर

-कमेटी ने नॉट क्लीयर की समस्या को निस्तारित करने की करी सिफारिश

आगरा। डॉ. भीमराव आंबेडकर विश्वविद्यालय की मुख्य परीक्षा के परिणाम से जुड़ी एक बड़ी समस्या के समाधान की राह साफ हो गयी है। 2021 की मुख्य परीक्षा में शामिल हुए लगभग तीन हजार छात्रों के परिणाम में पर्यावरण अध्ययन के पेपर में नॉट क्वालिफाई दिखाया गया था। जबकि विवि ने पेपर नहीं कराया था। इसके कारण से छात्रों का परिणाम अधूरा था। अब विवि ने इस समस्या के समाधान की प्रक्रिया को शुरू कर दिया है।

बता दें कि विवि में परीक्षा परिणाम की गड़बड़ियों पर जमकर हंगामा हुआ था। इसके बाद विवि ने उच्च स्तरीय कमेटी का गठन किया। कमेटी ने छात्रों के साथ सीधे संवाद का फैसला लिया। ऐसे में समस्याओं के प्रार्थना पत्र लेने के लिए सोमवार के इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंस में डेस्क लगायी गयी। डेस्क पर पर्यावरण अध्ययन के पेपर से जुड़ी समस्या आयी। कमेटी के सदस्य और चीफ प्रॉक्टर प्रो. मनोज श्रीवास्तव ने बताया कि स्नातक अंतिम वर्ष कर एक छात्रा ने पर्यावरण अध्ययन के पेपर में नॉट क्लीयर की समस्या के बारे में बताया। जानकारी करने पर ऐसे छात्रों की संख्या तीन हजार सामने आयी। क्योंकि इस बार सिर्फ मुख्य विषयों के एक-एक पेपर हुए थे। ऐसे में क्वालिफाइंग पेपर नहीं हुए थे। कमेटी ने विवि को इस संबंध में अपनी सिफारिश कर दी है। जल्द ही तीन हजार छात्रों की समस्या का निस्तारण हो जाएगा।

छात्रों की सुनी समस्याएं, कराया समाधान

परिणाम की समस्या के संबंध में लगायी डेस्क पर उच्च स्तरीय कमेटी के सदस्य खुद बैठे। डीन स्टूडेंट वेलफेयर प्रो. ब्रजेश रावत और चीफ प्रॉक्टर प्रो. मनोज श्रीवास्तव ने छात्रों की समस्याओं के प्रार्थना पत्र लिए। इसके बाद छात्रों को आईडी दी गयी है। डेस्क या फिर ऑनलाइन आने वाली समस्याओं का निस्तारण होने के बाद छात्रों को सूचित किया जाएगा। जहां कॉमन फैसले लेने होंगे। वहां पर कमेटी इसकी सिफारिश विवि से करेगी।

यहां दर्ज कराएं 2021 के परिणाम की शिकायत

उच्च स्तरीय कमेटी के सदस्य डीन स्टूडेंट वेलफेयर प्रो. ब्रजेश रावत के अनुसार परीक्षा परिणाम 2021 की समस्याओं के संबंध में छात्र इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंस में लगाए गए काउंटर पर प्रार्थना पत्र दे सकते हैं। यह सुविधा 18 अक्टूबर तक जारी रहेगी तथा अवकाश के दिनों में भी कार्य करेगी। सोमवार को आए 115 प्रार्थना पत्रों को कमेटी के समक्ष रखा जाएगा। प्रो. रावत के अनुसार जो छात्र विवि में नहीं आ सकते हैं। उनके लिए ई-मेल और गूगल फॉर्म के माध्यम से भी अपनी शिकायत दर्ज कर सकते हैं। इसके लिए लिंक विवि की वेबसाइट पर जारी किया जा रहा है।

यहां दर्ज करा सकते हैं शिकायत

विवि में व्यक्तिगत रूप से शिकायत दर्ज ना करा सकने वाले छात्र ईमेल पर या गूगल फॉर्म भरकर भेज सकते हैं:-

ईमेल : dbrauhpc21@gmail.com

गूगल फॉर्म : https://bit.ly/resultcomplaint2021

संबंधित खबरें