DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मानसून से पहले निपटेगा सिक्स लेन का काम

उद्योग बंधु की बैठक में कमिश्नर ने दिए एनएचएआई को निर्देश

रुनकता के साथ सिकंदरा और सुल्तानगंज पर हैं तमाम बाधाएं

एनएचएआई को मानसून से पहले हाइवे को सिक्स लेन बनाने का काम खत्म करना होगा। सभी बड़े निर्माण कार्य इस अवधि में पूरे करने पड़ेंगे। बारिश शुरू होने के बाद काम नहीं हो पाएगा। कमिश्नर ने एनएचएआई के अधिकारियों को इसके निर्देश दिए हैं। इधर एनएचएआई अफसरों ने भी प्रशासन से सहयोग मांगा है।

हरियाणा बार्डर से लेकर वाटर वर्क्स चौराहे तक सिक्स लेन का काम 2015 में पूरा होना था। इसमें लगातार देर होती चली गई। समयावधि तीन साल अधिक होने के बाद भी काम चल रहा है। केंद्र सरकार और जन प्रतिनिधियों पर दबाव के बाद एनएचएआई को रफ्तार बढ़ानी पड़ी। इसके बावजूद अभी सिक्स लेन प्रोजेक्ट के खत्म होने में तमाम रोड़े हैं। रुनकता पर अंडरपास लंबे समय से परेशानी का कारण बना हुआ है। इसकी एप्रोच रोड बनाने का काम चल रहा है। दिक्कत यह कि सीमित जगह में निर्माण के साथ ट्रैफिक भी चलाया जा रहा है। इस कारण कई हादसे भी हो चुके हैं। अरतौनी इंडस्ट्रियल एरिया में सर्विस रोड पर गहरे गड्ढे हो चले हैं। सिकंदरा क्षेत्र में अंडरपास बनाया जाना है। सूत्रों की मानें तो इसके लिए 13 लाख रुपए स्वीकृत हो चुके हैं। निर्माण शुरू नहीं हो पाया है। इसके बाद सुल्तानगंज पुलिया चौराहे के पास मंदिर को शिफ्ट किया जाना है। एनएचएआई ने नया मंदिर बनवा दिया है। स्थानीय लोगों का सहयोग नहीं मिल रहा। सिकंदरा थाना परिसर में बड़ा पेड़ भी बाधा बन रहा है। बुधवार को कमिश्नरी में उद्योग बंधु की बैठक में व्यापारियों ने सिक्स लेन कार्य के दौरान कई परेशानियों को उठाया। इस पर कमिश्नर ने एनएचएआई को मानसून से पहले काम खत्म करने के आदेश दिए हैं।

30 जून थी प्राधिकरण की डेडलाइन

एक माह पहले एनएचएआई ने अपने साइट इंजीनियरों से कार्य की प्रगति और काम खत्म होने की संभावित तिथि के बारे में विमर्श किया था। इसके आधार पर प्राधिकरण ने 30 जून तक काम खत्म करने की घोषणा की थी। मौजूदा कार्य की प्रगति को देखें तो इस अवधि में सम्पूर्ण काम होना मुश्किल लग रहा है।

बड़े निर्माण पूरे हो जाएंगे

हम मानसून से पहले सिक्स लेन के बड़े निर्माण पूरे कर लेंगे। अंडरपास के ऊपर वाहन दौड़ने लगेंगे। छोटे-मोटे काम मानसून के दौरान भी हो सकते हैं। हालांकि हमारी कोशिश पूरी तरह काम खत्म करने की होगी।

सुरेश कुमार, महा प्रबंधक एनएचएआई हरियाणा डिवीजन।

हमने अधिकारियों के सामने सिक्स लेन चौड़ीकरण से संबंधित परेशानियां उठाई थीं। सिकंदरा अंडरपास के लिए पैसा स्वीकृत हो चुका है। एनएचएआई काम नहीं कर रहा। हमने इस काम को खुद कराने का प्रस्ताव दिया है। फाउंड्री नगर औद्योगिक क्षेत्र में जलभराव, फायर सेफ्टी के इंतजामों की भी मांग की है।

विष्णु भगवान अग्रवाल, अध्यक्ष एसोचेम।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Six lane work to be disposed of before monsoon