DA Image
19 अक्तूबर, 2020|8:14|IST

अगली स्टोरी

हाथरस की बिटिया को न्याय के लिए सफाईकर्मियों की हड़ताल

default image

हाथरस कांड के बाद वाल्मीकि समाज में जबर्दस्त आक्रोश भड़क उठा है। इसका असर गुरुवार को शहर की सफाई व्यवस्था पर पड़ा है। सफाई कर्मियों ने हड़ताल कर दी है। इसके चलते सफाई व्यवस्था ठप हो गई। नगर पालिका सफाई कर्मियों ने धरना प्रदर्शन करते हुए घटना को अंजाम देने वालों को फांसी की सजा दिए जाने की मांग करते हुए अपना ज्ञापन राष्ट्रपति के नाम एसडीएम एवं अधिशाषी अधिकारी को सौंपा। सफाई की हड़ताल के ऐलान के बाद नगर पालिका में हड़कंप मचा हुआ है। कर्मचारी नेताओं से लगातार वार्ता की जा रही है।

गुरुवार को दिन में होने वाली सफाई व्यवस्था को लेकर कई दौर की बातचीत के बाद सफाई कर्मचारियों ने हाथरस में बिटिया की हत्या पर अपना विरोध जताना शुरू कर दिया। नगर पालिका में धरना देकर सफाई कार्य की हड़ताल कर दी। जिसका ठीक ठाक असर दोपहर बाद की सफाई शिफ्ट में नजर आने लगा। नगर पालिका में सफाई कर्मचारियों ने दो मिनट का मौन रखकर मृत आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना की। सभासद सुनील वाल्मीकि ने कहा कि हाथरस में हुई युवती के हत्यारों को फांसी होनी चाहिए। इस दौरान सफाई कर्मियों ने एसडीएम सदर ललित कुमार एवं ईओ लवकुश गुप्ता को राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन भी सौंपा। सपा नेता सोनू भंडारी ने कहा कि पीड़ित परिवार की सरकार मदद का भरोसा दे और मदद करे। प्रदर्शन करने वाले सफाई कर्मचारियों में प्रेमवती वाल्मीकि, हसनमुखी वाल्मीकि, विकास बाबू वाल्मीकि, मुकेश कुमार वाल्मीकि, अशोक कुमार वाल्मीकि, सुमित कुमार वाल्मीकि आदि सफाई कर्मी शामिल थे।

नगर पालिका के सफाई कर्मियों ने हाथरस में हुई युवती की हत्या के विरोध में हड़ताल कर दी है। कर्मचारी नेताओं से वार्ता हुई है। अभी तक शुक्रवार को नगर में सफाई कार्य विधिवत करने की बात उनकी ओर से कही जा रही है। नगर पालिका स्थिति पर नजर रखे हुए है।

लवकुश गुप्ता, अधिसासी अधिकारी नगर पालिका

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Safai workers strike for justice to Hathras daughter